कोरोना काल के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने उतरी टीम इंडिया (Team India) का सामना चिर प्रतिद्वंद्वी ऑस्ट्रेलिया से होगा। शुक्रवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेले जाने वाले पहले वनडे मैच में जब विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम एरोन फिंच (Aaron Finch) एंड कंपनी के खिलाफ खेलने उतरेगी तो मेहमान टीम के पास अपना एक बेहद अहम खिलाड़ी नहीं होगा।

भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में बिना सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के खेलेगी जो कि ऑस्ट्रेलिया में खेली गई पिछली दो वनडे सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

ऑस्ट्रेलिया में रोहित का जलवा

27 नवंबर से शुरू होने वाली वनडे सीरीज से पहले भारत ने ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर पिछली दो सीरीज साल 2016 और 2018 में खेली थी। 2016 में खेली गई सीरीज में मेजबान टीम ने 4-1 से शानदार जीत हासिल की थी, जबकि 2018 में टीम इंडिया ने 2-1 से बाजी मारी थी। इन दोनों सीरीज के आंकड़ों पर अगर नजर डालें तो रोहित सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

पिछली दो वनडे सीरीज में खेले 8 मैचों में रोहित शर्मा ने कुल 626 रन बनाए हैं जिसमें तीन शतक और एक अर्धशतक शामिल है। रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के पिछले दोनों दौरों पर शानदार प्रदर्शन किया। लगभग 90 की औसत से बल्लेबाजी करते हुए रोहित ने कई बड़ी पारियां खेली, जिसमें पर्थ में खेली 171 रनों की नाबाद पारी भी शामिल है जो कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में उनका सर्वोच्च स्कोर है।

ऑस्ट्रेलिया 33 साल के इस सलामी बल्लेबाज की पसंदीदा जगहों में से है लेकिन हैमस्ट्रिंग इंजरी के चलते इस बार रोहित ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय स्क्वाड का हिस्सा नहीं हैं। जाहिर है कि भारतीय टीम को इस दिग्गज खिलाड़ी की कमी खलेगी और विपक्षी टीम के लिए ये फायदेमंद साबित हो सकता है।

कैसा होगा बल्लेबाजी कॉम्बिनेशन

रोहित की गैरमौजूदगी में शिखर धवन मयंक अग्रवाल के साथ पारी का आगाज करेंगे। वहीं कप्तान कोहली तीसरे नंबर पर रहेंगे। चौथे नंबर पर अपनी जगह पक्की कर चुके श्रेयस अय्यर मध्यक्रम में ही खेलेंगे।

वहीं केएल राहुल के लिए ये दौरा अग्निपरीक्षा से कम नहीं होगा। उन्हें ना केवल रोहित की जगह उप कप्तान की जिम्मेदारी संभालनी है, बल्कि विकेट के पीछे पूर्व दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी की जगह लेनी है।

खुद राहुल मानते हैं कि धोनी की जगह लेना तो किसी के लिए संभव नहीं है लेकिन ‘रांची के राजकुमार’ ने विकेटकीपिंग के इतने ऊंचे मानदंड कायम किए हैं कि उन पर खरे उतरना भी किसी के लिए आसान नहीं है।

स्पेशलिस्ट बल्लेबाज के दौर पर हार्दिक पांड्या छठें या सातवें नंबर पर फिनिशर की भूमिका में उतरेंगे। निचले क्रम में रवींद्र जडेजा उनका साथ देंगे।

अहम होगा गेंदबाजों का प्रदर्शन

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में टीम इंडिया के गेंदबाजी अटैक का जिम्मा जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी पर होगा। हालांकि संभव है कि टीम मैनेजमेंट आगामी टेस्ट सीरीज को देखते हुए दोनों में से किसी एक ही गेंदबाज को उतारे। ऐसे में शार्दुल ठाकुर और नवदीप सैनी को मौका मिल सकता है। वहीं भुवनेश्वर कुमार की गैरमौजूदगी में बुमराह पर अतिरिक्त जिम्मेदारी रहेगी।

स्पिन गेंदबाजी के लिए टीम में कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल होंगे जो ऑस्ट्रेलियाई मध्यक्रम के लिए चिंता का कारण साबित हो सकतें हैं।

पहले से कहीं मजबूत होगी मेजबान टीम

भारत के पिछले दौरे पर ऑस्ट्रेलिया टीम का बल्लेबाजी क्रम बेहद कमजोर था लेकिन अब स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर के लौटने से मेजबान टीम पहले से कहीं ज्यादा मजबूत हो गई है। इन दो स्टार खिलाड़ियों के साथ अनुभवी कप्तान फिंच और उभरते सितारे मार्नस लाबुशाने भी बल्लेबाजी क्रम को मजबूती देंगे।

साथ ही ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस और ग्लेन मैक्सवेल निचले क्रम में तेजी से रन बटोरने के लिए तैयार रहेंगे। स्टोइनिस और मैक्सवेल मेजबान टीम को अतिरिक्त गेंदबाजी विकल्प भी देंगे।

इस सीरीज में भारतीय बल्लेबाजों का सामना पैट कमिंस और मिशेल स्टार्क वाले सर्वश्रेष्ठ ऑस्ट्रेलियाई पेस अटैक से होगा। वहीं टीम इंडिया के कप्तान को खामोश रखने के लिए स्पिन एडम जम्पा भी प्लेइंग इलेवन में मौजूद रहेंगे।

भारतीय वनडे स्क्वाड : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, शुभमन गिल, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, मयंक अग्रवाल, रविंद्र जडेजा, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, नवदीप सैनी, शार्दुल ठाकुर।

ऑस्ट्रेलियाई वनडे स्क्वाड : एरोन फिंच (कप्तान), डेविड वार्नर, स्टीव स्मिथ, मार्नस लाबुशेन, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस, एलेक्स कैरी, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, एडम जम्पा, जॉश हेजलवुड, सीन एबॉट, एश्टन एगर, कैमरून ग्रीन, मोइजेस हेनरिक्स, एंड्रयू टाय, डेनियल सैम्स, मैथ्यू वेड।