Australia vs India, 2nd Test: R Ashwin strikes; Australia 65 for 3 at lunch

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न में खेले जा रहे बॉक्सिंग डे टेस्ट का पहला सेशन पूरी तरह से भारतीय टीम के नाम रहा, जिसका श्रेय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को जाता है, जिन्होंने दो विकेट हासिल किए। लंच ब्रेक तक मार्नस लाबुशाने (26) और ट्रैविस हेड क्रीज पर जमे हुए हैं। ऑस्ट्रेलिया ने तीन विकेट के नुकसान पर 65 रन बना लिए हैं।

दिन की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। पारी की शुरुआत करने मैथ्यू वेड (30) और जो बर्न्‍स आए लेकिन जसप्रीत बुमराह ने उन्हें पैर नहीं जमाने दिया और पारी के पाचंवें ओवर की दूसरी गेंद पर उन्हें विकेट के पीछे रिषभ पंत के हाथों कैच करा दिया।

एडिलेड टेस्ट की दूसरी पारी में नाबाद अर्धशतक लगाने वाले बर्न्‍स यहां 10 गेंदों का सामना करने के बाद खाता भी नहीं खोल सके। दूसरे छोर पर वेड खुलकर रन बना रहे थे। उनके इरादे खतरनाक दिख रहे थे। बुमराह तो प्रभावशाली दिख रहे थे लेकिन दूसरे छोर पर उमेश यादव दबाव नहीं बना पा रहे थे। वेड और नए बल्लेबाज मार्नस लाबुशैन पर दबाव बनाने के लिए कप्तान अजिंक्य रहाणे स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को अटैक पर लाए।

VIDEO: बॉक्सिंग डे टेस्ट में शुबमन गिल, मोहम्मद सिराज को मिला डेब्यू का मौका; 7 साल बाद बना ये कीर्तिमान

अश्विन ने आते ही कमाल किया और अपने दूसरे तथा पारी के 13वें ओवर की पांचवीं गेंद पर वेड को आउट कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई। वेड का कैच रवींद्र जडेजा ने लिया। वेड ने 39 गेंदों का सामना कर तीन चौके लगाए। ऑस्ट्रेलिया का यह विकेट 35 के कुल योग पर गिरा।

अब लाबुशाने का साथ देने अनुभवी स्टीव स्मिथ आए, जिनका कि एमसीजी में रिकार्ड बेमिसाल रहा है। भारत के लिए यह विकेट बहुत अहम था और इसी कारण रहाणे ने एक तरफ से स्पिन और एक तरफ से फास्ट बॉलिंग लगाए रखा। स्मिथ हालांकि इस कॉम्बीनेशन को अधिक देर नहीं झेल सके और 38 के कुल योग पर खाता खोले बगैर ही अश्विन की गेंद पर शॉर्ट फाइन लेग पर चेतेश्वर पुजारा द्वारा लपक लिए गए। भारत के खिलाफ स्मिथ दूसरी बार शून्य पर आउट हुए।

पारी के 16वें ओवर में बुमराह ने लाबुशैन को फंसा लिया था लेकिन अंपायर पॉल राफेल ने भारत के एलबीडब्ल्यू की अपील को नकार दिया। इस पर भारत ने रिव्यू लिया लेकिन तीसरे अम्पायर ने उसे भी नकार दिया। 27वें ओवर की तीसरी गेंद पर भी अश्विन ने लाबुशैन को फंसाया और पगबाधा की जोरदार अपील हुई। अम्पायर ने उंगली उठा दी लेकनि लाबुशैन रिव्यू ले लिया। रिव्यू में पता चला कि गेंद स्टम्प मिस कर रही थी। इस तरह लाबुशैन को दो मौकों पर किस्मत का साथ मिला।