Australia vs India, 3rd Test: Rishabh Pant’s knock set us up, says Ravichandran Ashwin
रिषभ पंत (Twitter)

सिडनी टेस्ट में संघर्षपूर्व बल्लेबाजी कर भारतीय क्रिकेट टीम को हार से बचाने वाले स्पिन ऑलराउंडर रविचंद्रन अश्विन का कहना है कि विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत की 97 रनों की पारी के दम पर भारतीय टीम ये सफलता हासिल कर सकी।

मैच के बाद अश्विन ने कहा, “सिडनी में 400 रनों का पीछा करना कभी आसान नहीं था, क्योंकि गेंद ऊपर और नीचे जा रही थी। पंत की पारी से हमें सेट होन में मदद मिली। पुजारा, पंत के विकेट और फिर विहारी के चोटिल होने से, जीत की तरफ जाना मुश्किल होता।”

अश्विन ने उनके साथ मिलकर अर्धशतकीय साझेदारी बनाने वाले विहारी की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, “ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना कभी आसान नहीं होता है इसलिए विहारी को खुद पर गर्व हो सकता है। ये एक शतक लगाने के बराबर था।”

विहारी और अश्विन ने सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन 62 रनों की साझेदारी बनाई, जिसकी बदौलत भारतीय टीम मैच ड्रॉ करने में सफल रही। विहारी ने 161 गेंदो पर 23 रन बनाए और अश्विन ने 128 गेंदो पर 39 रनों की पारी खेली। हालांकि अश्विन सिडनी के मैदान पर अर्धशतक लगाना चाहते थे।

उन्होंने कहा, “मैं सिर्फ लंच ब्रेक के दौरान बल्लेबाजी कोच को बता रहा था कि मैंने कभी भी एससीजी के मैदान पर बिना अर्धशतक बनाए नहीं छोड़ा है, ये ऐसा वेन्यू है जहां मैं बल्ले से अच्छा करता हूं और आज की पारी उस सूची में शामिल है।”

‘भारत के खिलाफ सीरीज तुम्हारी आखिरी सीरीज होगी’; सिडनी टेस्ट के दौरान भिड़े अश्विन-पेन

अपनी बल्लेबाजी के बारे में अश्विन ने कहा, “कमिंस पूरी तरह से एक अलग लीग में गेंदबाजी कर रहा था। थोड़ा दोहरा उछाल था, इसलिए कमिंस के खिलाफ खेलना मुश्किल था। मुझे लगता है कि नेट्स में बुमराह का सामना करना आसान नहीं है। हमारे पास गेंदबाज हैं जो 150 की गति से गेंदबाजी कर सकते हैं। मैं नेट्स में अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं इसलिए क्रीज पर समय बिताना अच्छा रहा।”

भले रही कई फैंसल पांच दिन के खेल के बाद मैच के ड्रॉ में खत्म होने से खुश नहीं है लेकिन अश्विन इससे सहमत नहीं है। उन्होंने कहा, “टेस्ट क्रिकेट में हम ज्यादा ड्रॉ नहीं देखते हैं। ये बेहद उत्साहित करने वाला आखिरी सेशन था। मैंने अभी पुजारा से कहा कि तुमने दोनों पारियों में मुझे मुश्किल में आगे भेज दिया।”