Australia vs India, 4the Test: You can expect a lot more from Kuldeep Yadav; Says Bharat Arun
kuldeep-kohli @ AFP

भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव की तारीफ करते हुए कहा है कि इंग्लैंड दौरे की तुलना में यह चाइनामैन गेंदबाज कहीं बेहतर हुआ है।

ऑस्ट्रेलिया में अपने पहले ही टेस्ट में कुलदीप ने 99 रन देकर 5 विकेट चटकाए जिससे ऑस्ट्रेलिया की टीम पहली पारी में 300 रन ही बना सकी। फॉलोऑन खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में बिना विकेट खोए छह रन बना लिए हैं।

पढ़ें: दक्षिण अफ्रीका ने दूसरे टेस्‍ट में पाक को 9 विकेट से हरा जीती सीरीज

अरुण ने चौथे टेस्ट के वर्षा से प्रभावित चौथे दिन के खेल के बाद कहा, ‘कुलदीप में काफी कौशल है और उसने यह साबित भी किया है। वनडे में वह काफी सफल रहा और संभवत: वनडे प्रारूप में वह नंबर एक गेंदबाज है। वह बेजोड़ है क्योंकि दुनिया भर में इस समय बेहद कम चाइनामैन गेंदबाज मौजूद हैं। साथ ही वह गुगली का भी प्रभावी इस्तेमाल करता है।’

उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा जो चीज उसे और अधिक विशेष बनाती है वह है क्रीज का इस्तेमाल। वह ओवर और राउंड का विकेट गेंदबाजी कर सकता है। वह विकेट के करीब और क्रीज से दूर से भी गेंदबाजी कर सकता है। इससे उसे काफी विविधता मिलती है।’

पढ़ें: डीआरएस न लेने पर लियोन और स्‍टार्क पर बरसे रिकी पोंटिंग

अरुण ने कहा कि मौजूदा टेस्ट में कुलदीप का अच्छा प्रदर्शन इससे बेहतर समय में नहीं हो सकता था।

‘इससे कुलदीप बढ़ेगा आत्‍मविश्‍वास’

भरत अरुण ने कहा, ‘इंग्लैंड में जब वह खेला तो उसके लिए मैच काफी अच्छा नहीं रहा लेकिन यह टेस्ट मैच उसे काफी आत्मविश्वास देगा। और साथ ही उसकी उम्र और यह देखते हुए कि वह स्पिनर है, मुझे लगता है कि उसके अंदर काफी क्रिकेट बचा है।’

दो स्पिनरों के साथ खेलने के फैसले पर अरुण ने कहा, ‘ इससे पहले हमने सिडनी में अभ्यास मैच और टी20 मैच भी खेला था। इसलिए हम हालात को जानते थे और साथ ही हमने महसूस किया कि सिडनी में दो स्पिनरों के साथ खेलने की जरूरत है।’

टीम इंडिया ने तीसरे दिन ही फॉलोऑन खिलाने पर किया था विचार

भारत ने मेलबर्न में फॉलोऑन नहीं देने का फैसला किया था लेकिन यहां ऐसा किया जिसके संदर्भ में अरुण ने कहा, ‘कल जब ऑस्ट्रेलिया ने 150 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे और मौसम की भविष्यवाणी को ध्यान में रखते हुए, हमने फैसला किया कि अगर हम उन्हें जल्दी आउट करते हैं तो निश्चित तौर पर फॉलोऑन देंगे।’

उन्होंने कहा, ‘बल्लेबाजों के नजरिए से निश्चित तौर पर यह खेलने के लिए संभवत: सर्वश्रेष्ठ विकेटों में से एक है। इसलिए हमें पता था कि मैच जीतने के लिए हमें कितने ओवरों की जरूरत होगी। मौसम पहले तीन दिन की तुलना में राहत भरा है और साथ ही हमारे पास 3-1 से जीतने का बेहतरीन मौका है।’

अरुण ने बेहतर प्रदर्शन का श्रेय ऑलराउंड आक्रमण को दिया

ऑस्ट्रेलियाई टीम पांचवें दिन मैच ड्रॉ कराने के इरादे से उतरेगी लेकिन गेंदबाजों ने भारतीय टीम की सीरीज में जीत लगभग तय कर दी है और अरुण ने इसका श्रेय ऑलराउंड आक्रमण को दिया।

वर्ष 2018-19 के सत्र में विदेशी सरजमीं पर भारतीय गेंदबाजों की प्रगति पर अरुण ने कहा, ‘जब हमने शुरुआत की तो दक्षिण अफ्रीका और फिर इंग्लैंड में हमारे पास बेहतरीन मौका था। इंग्लैंड में सीरीज का नतीजा बिल्‍कुल अलग नजरिया पेश करता है लेकिन मुझे लगता है कि हम इंग्लैंड में जीत के काफी करीब थे। हमने वहां गलतियां की और हमने काफी विचार किया कि हमने कहां गलतियां की।’

उन्होंने कहा, ‘जहां तक निचले क्रम के बल्लेबाजों का सवाल है तो हम उन्हें आउट करने को लेकर काफी बेताब थे। इसलिए हमने उन्हें शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की तरह गेंदबाजी की। हमने यही गलती की।’

(इनपुट-एजेंसी)