Australia vs South Africa, 3rd ODI: David Miller’s review re-opens DRS debate
David Miller (L) and Faf du Plessis . (AFP Image)

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे में दक्षिण अफ्रीका के डेविड मिलर और कप्‍तान फाफ डू प्‍लेसिस ने रिकॉर्ड 252 रनों की साझेदारी बनाकर टीम को 320 के स्कोर कर पहुंचाया। कप्तान डु प्लेसिस ने 125 रन बनाए, वहीं मिलर ने 139 रनों की धमाकेदार पारी खेली। हालांकि मिलर को इस पारी के दौरान एक जीवनदान मिला जिसे लेकर डीआरएस पर चल रही बहस को एक बार फिर हवा मिल गई।

33वें ओवर में पार्ट टाइम स्पिन गेंदबाज ग्लेन मैक्सवेल की चौथी गेंद पर मिलर विकेट के सामने बीट हुए। गेंदबाज ने अपील की और अंपायर अलीम दार ने आउट का इशारा किया। मिलर ने अपने साथी बल्लेबाज और कप्तान डु प्लेसिस से कुछ देर बातचीत की और फिर उन्होंने रिव्यू लेने का फैसला किया। इस दौरान दोनों खिलाड़ियों ने नियम के मुताबिक मिलने वाले समय (15 सेकेंड) से ज्यादा समय लिया। जिससे मैक्सवेल नाराज दिखे। बॉल ट्रेकिंग में दिखा की गेंद स्टंप के ऊपर से जाती, जिससे अलीम दार भी हैरान थे। तीसरे अंपायर ने नॉट आउट का फैसला दिया और मिलर ने पारी जारी रखी।

 

 

 

हालांकि मामला यहीं खत्म नहीं हुआ। नियम के मुताबिक जिस खिलाड़ी को आउट दिया गया हो केवल वो ही डीआरएस का फैसला ले सकता है। मैच के दौरान कमेंट्री कर रहे दिग्गज गेंदबाज शेन वार्न ने भी इस बात पर गौर किया। उन्होंने कहा, “वो (मिलर) जाने वाला था, देखा आपने। और फिर डु प्लेसिस ने रिव्यू का फैसला किया। जैसे ही ड्रिंक्स ब्रेक हुआ मैक्लवेल अलीम दार से बात कर रहा था। मुझे लगता है कि वो रिव्यू लेने के समय के बारे में पूछ रहा है। मैं शायद गलत भी हो सकता हूं लेकिन मुझे यकीन है कि वो इसी बारे में बात कर रहा है।” वार्न के साथ कमेंट्री कर रहे केरी ओ’कीफी ने कहा, “अगर डेविड मिलर कप्तान के अलावा किसी और खिलाड़ी के साथ बल्लेबाजी कर रहा होता तो वो आउट होगा। उसने कहा ‘नहीं, मैं आउट हूं’ लेकिन कप्तान ने फैसले को मानने से इंकार किया।”