ग्‍लेन मैक्‍सवेल (Glenn Maxwell) द्वारा अवसाद से ग्रस्ति होकर अनिश्चितकॉल के लिए क्रिकेट से दूरी बनाने के बाद टीम के ही एक अन्‍य खिलाड़ी में भी इस बारे में खुलकर बात करने की हिम्‍मत आई है. ऑस्ट्रेलिया के लिए 11 वनडे, 11 टी20 और चार टेस्ट खेलने वाले 33 साल के ऑलराउंडर मोइजेस हेनरिक्स (Moises Henriques) ने दावा किया कि ड्रिपेशन से इस कदर घिरे हुए थे कि आत्‍महत्‍या करने पर भी विचार कर रहे थे.

मोइजेस हेनरिक्स (Moises Henriques) IPL में मुंबई इंडियंस का हिस्‍सा भी बन चुके हैं. उन्‍होंने बताया कि एक बार प्रथम श्रेणी मैच के दौरान वो आत्महत्या करने के बारे में सोच रहे थे. हेनरिक्स ने ‘ओडिनेरोली स्पीकिंग पोडकास्ट’ से कहा, ‘‘अगर आप गूगल पर अवसाद के लक्षणों को देखेंगे तो मैं सभी से बुरी तरह से ग्रसित था.’’

हेनरिक्‍स (Moises Henriques) ने कहा, ‘‘ मुझे याद है मैं बिस्तर पर पड़ा रहता था और खुद ही अलग-अलग दवाईयों को लेने के बारे में सोचता था. मैं सोचता था कि किसे फोन करूं? ’’

तस्मानिया के खिलाफ मैच के दौरान घर लौटते समय हेनरिक्‍स अपनी कार को दुर्घटनाग्रस्त करना चाहते थे. ‘‘मुझे याद है मैं कार में था और 110 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से कार चला रहा था. मैं सोच रहा था कि कार को ऐसे मोडू की किसी खंभे या दूसरी चीज से टकरा जाए.’’

हेनरिक्स (Moises Henriques)ने कहा, ‘‘मैंने अपनी योजना को हालांकि बदल दिया क्योंकि मैं अपने परिवार और टीम को दुखी नहीं देखना चाहता था. मैं टीम को दो दिनों के लिए मैदान पर दस खिलाड़ियों के साथ नहीं छोड़ सकता था.’’