Australian bowlers Pat Cummins, Josh Hazlewood, Mitch Starc and Nathan Lyon deny knowing about ‘Sandpaper-gate’ ball-tampering
ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट गेंदबाज © Getty Images

सलामी बल्लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट के हालिया बयान के बाद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने सैंडपेपर गेट में अपनी भूमिका को लेकर सफाई दी है। ऑस्ट्रेलिया के चार प्रमुख टेस्ट गेंदबाजों ने 2018 के न्यूलैंड्स टेस्ट के दौरान गेंद पर सैंडपेपर का उपयोग करने की साजिश के बारे में पहले से कोई भी जानकारी होने की बात से साफ इनकार किया है।

पैट कमिंस, जॉश हेजलवुड, मिशेल स्टार्क और नाथन लियोन ने मंगलवार शाम को एक बयान जारी कर इस बात की पुष्टि की कि जब तक मामला सार्वजनिक रूप से सभी के सामने नहीं आया तब तक उन्हें गेंद से छेड़छाड़ की साजिश के बारे कुछ नहीं पता था।

गेंद से छेड़छाड़ मामले में 9 महीने के लिए अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट से बैन हुए बैनक्रॉफ्ट में हाल ही में बयान दिया था कि टीम के सीनियर गेंदबाजों को इस घटना की जानकारी थी।

गेंदबाजों के आधिकारिक बयान में कहा, “हमें अपनी ईमानदारी पर गर्व है। इसलिए ये देखना निराशाजनक है कि 2018 के केप टाउन टेस्ट के संबंध में हाल के दिनों में कुछ पत्रकारों और पूर्व खिलाड़ियों द्वारा हमारी ईमानदारी पर सवाल उठाया गया है। हम पहले ही इस मुद्दे पर कई बार सवालों के जवाब दे चुके हैं, लेकिन हम एक बार फिर महत्वपूर्ण तथ्यों को फिर से रिकॉर्ड करने के लिए मजबूर हैं।”

नवंबर 2022 में बांग्लादेश का दौरा करेगी भारतीय टीम

बयान में आगे कहा गया, “जब तक हमने बड़ी स्क्रीन पर नहीं देखा था हमें नहीं पता था कि गेंद की स्थिति को बदलने के लिए एक बाहरी पदार्थ का इस्तेमाल किया गया है। बयान में आगे कहा गया, “जब तक हमने बड़ी स्क्रीन पर नहीं देखा था हमें नहीं पता था कि गेंद की स्थिति को बदलने के लिए एक बाहरी पदार्थ का इस्तेमाल किया गया है। और जो लोग सबूतों के अभाव के बावजूद इस बात पर जोर देते हैं कि हम किसी विदेशी पदार्थ के इस्तेमाल के बारे में सिर्फ इसलिए जानते होंगे क्योंकि हम गेंदबाज हैं, तो हम उन्हें ये कहना चाहेंगे: उस टेस्ट मैच के दौरान अंपायर, नाइजल लॉन्ग और रिचर्ड इलिंगवर्थ, दोनों बहुत सम्मानित और अनुभवी अंपायरों ने टीवी कवरेज पर फोटो देखने के बाद गेंद का निरीक्षण किया और इसे नहीं बदला क्योंकि क्षति का कोई संकेत नहीं था।”

उन्होंने कहा, “उस दिन न्यूलैंड्स के मैदान पर जो हुआ उसका कोई बहाना नहीं है। वो गलत था और ऐसा कभी नहीं होना चाहिए था। हम सभी ने जरूरी सबक सीखा है और हम उम्मीद करते हैं लोग हमारे खेलने के तरीके, मैदान पर व्यवहार और खेल के सम्मान में आए बदलाव को देख रहें होंगे।”

आगे कहा गया, “हम इंसान और खिलाड़ी के रूप में खुद में सुधार करने की इस प्रतिबद्धता को जारी रखेंगे। हम सम्मानपूर्वक इन मामले पर अफवाह फैलाने का काम खत्म करने का अनुरोध करते हैं। ये बहुत लंबा चला गया है और अब आगे बढ़ने का समय है।”