ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन (Tim Paine) ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है कि एशेज के लिए इंग्लैंड की टीम “वास्तव में मजबूत” होगी। पेन ने ये भी खुलासा किया कि वो सीरीज को लेकर ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के संपर्क में थे।

पेन ने पिछले हफ्ते ये कहा था कि अगर जो रूट अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम के साथ नहीं आ पाते हैं तो भी सीरीज तय शेड्यूल पर ही होगी। दरअसल ऑस्ट्रेलिया के सख्त क्वारेंटीन नियमों की वजह से कई प्रमुख इंग्लिश खिलाड़ियों के एशेज सीरीज से नाम वापस लेने की खबर है यानि कि रूट के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अपनी सबसे मजबूत टीम लाना मुश्किल है।

एसईएन स्पोर्ट्स रेडियो से बातचीत में पेन ने कहा, “सकारात्मक खबर ये है कि मैं सुन रहा हूं कि उनके बहुत से खिलाड़ी (सीरीज खेलने के लिए) प्रतिबद्ध होंगे। एक या दो ऐसे हो सकते हैं जो नहीं करते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि हम इंग्लैंड की एक मजबूत टीम को यहां देखेंगे जैसा कि हम खिलाड़ियों और ऑस्ट्रेलियाई प्रशंसकों के रूप में चाहते हैं।”

ये पूछे जाने पर कि क्या वो कभी इस बात से चिंतित थे कि एशेज आगे नहीं बढ़ सकती है, पेन ने कहा कि उन्हें “विश्वास था”। उन्होंने कहा, “मेरी समझ, जैसा कि मैंने कहा, पर्दे के पीछे स्थिति ये थी कि दोनों बोर्ड ये सुनिश्चित करने के लिए वास्तव में कड़ी मेहनत कर रहे थे कि ये आगे बढ़े, इसलिए मैं इसके साथ काफी सहज था। मुझे अभी भी विश्वास है कि पहला टेस्ट 8 दिसंबर को होगा।”

इंग्लैंड के खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया पहुंचने पर 14 दिनों के अनिवार्य क्वारेंटीन के साथ-साथ बायो बबल में रहने और अपने परिवार के साथ ना रह पाने को लेकर चिंतित हैं।

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पिछले महीने मॉरिसन के साथ इस मुद्दे को उठाया और पेन ने कहा कि वो भी ऑस्ट्रेलियाई पीएम के संपर्क में थे।

उन्होंने कहा, “वो (बोरिस जॉनसन) हमेशा संपर्क में थे, वो ये जानने के लिए उत्सुक थे कि एक खिलाड़ी के दृष्टिकोण से कौन से मुद्दे समस्या हो सकते हैं। मैंने बॉस के साथ कुछ चीजें साझा की। वो क्रिकेट से प्यार करते हैं।”