Australian Coach Justin Langer unsure if Steve Smith wants Australia captaincy back
स्टीव स्मिथ © Getty Images

बॉल टैंपरिंग मामले में स्टीव स्मिथ (Steve Smith) के ऑस्ट्रेलिया टीम की कप्तानी ना करने पर लगा दो साल का बैन मार्च 2020 में खत्म हो जाएगा। लेकिन टीम को कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) पूरी तरह से निश्चित नहीं है कि स्मिथ कप्तानी चाहते भी हैं या नहीं।

इंग्लैंड के खिलाफ हालिया एशेज सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने के बाद स्मिथ को फिर से टेस्ट टीम का कप्तान बनाए जाने की मांग है। लेकिन लैंगर को नहीं लगता कि स्मिथ मानसिक तौर पर इसके लिए तैयार होंगे।

उन्होंने कहा, “पिछले 18 महीनों में मैने स्मिथ के साथ अच्छे संबंध बनाए हैं और कप्तानी की बात ईमानदारी से करनी होगी। आपने देखा होगा कि (एशेज सीरीज के दौरान) बल्लेबाजी में की कड़ी मेहनत की वजह से वो कितना थका हुआ था। और वो कप्तानी का बोझ चाहता है भी या नहीं, इस पर हमें समय के साथ काम करना होगा। मैं (कप्तान का) चयन करने वालों में से एक होगा और मेरा मानना है कि हम वो काम करेंगे जो सर्वश्रेष्ठ होगा।”

इयोन मोर्गन, जेम्स एंडरसन के रिटायरमेंट को लेकर जल्दबाजी नहीं करेंगे नए इंग्लिश कोच

स्मिथ पर बैन लगने के बाद मुश्किल दौर में ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम की टिम पेन (Tim Paine) को दी गई थी। उनके नेतृत्व में कंगारू टीम ने इंग्लैंड में एशेज रीटेन की। लैंगर का भी मानना है कि पेन अपना काम बखूबी कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “बतौर कप्तान अपने समय में वो कमाल रहा है। अब वो कितने समय तक खेलना चाहता है वो अलग बात है।”

बता दें कि कुछ साल पहले पेन क्रिकेट से संन्यास लेकर खेल उपकरण बनाने वाली कंपनी में नौकरी करने के बारे में सोच रहे थे लेकिन स्मिथ पर लगे बैन और अचानक मिली कप्तानी में उनके करियर में बड़ा बदलाव किया।

गेंद से छेड़छाड़ मामले में भूमिका स्वीकार करने के बाद स्मिथ को जहां दो साल तक के लिए कप्तान बनने से बैन किया गया था, वहीं उप कप्तान डेविड वार्नर (David Warner) के भविष्य में कभी भी ऑस्ट्रेलिया टीम की कप्तानी (या उप कप्तानी) करने पर बैन लगा दिया गया था।

सकारात्मक रहकर टीम इंडिया पर दबाव बनाना होगा: केशव महाराज

वार्नर के लिए इंग्लैंड में खेली गई टेस्ट सीरीज काफी निराशाजनक रही। लेकिन लैंगर को इस सीनियर खिलाड़ी की काबिलियत पर यकीन है।

उन्होंने कहा, “इंग्लैंड के खिलाफ उसकी सीरीज निराशाजनक रही, इसमें कोई शक नहीं है, ये सच है और उसे भी ये पता है। लेकिन उसने अपनी प्रतिभा नहीं खोई है, क्योंकि वो एशेज शुरू होने से दो हफ्ते पहले विश्व कप में सर्वाधिक रन बनाने वाला बल्लेबाज था, और उससे पहले वो आईपीएल में भी लीडिंग रन स्कोरर था। इसलिए वो बल्लेबाजी कर सकता है। वार्नर के बारे में दूसरी बात ये कि मेरा अनुभव बताता है कि आप चैंपियन खिलाड़ी को कभी भी कमतर नहीं आंक सकते और वो एक चैंपियन खिलाड़ी है।