Australian kid raised money for Ashes tickets by picking garbage for 4 years; Gets to travel in Team bus
पूर्व क्रिकेटर स्टीव वॉ, कोच जस्टिन लैंगर, कप्तान टिम पेन के साथ मैक्स वेट (Instagram/stevewaugh

क्रिकेट को मजहब और क्रिकेटरों को खुदा मानने वाले प्रशंसकों की दुनिया में कमी नहीं है और इसी की बानगी पेश की ऑस्ट्रेलिया में 12 साल के एक बच्चे ने जो चार साल तक कचरा बीनकर पैसा बचाता रहा ताकि एशेज का मैच देख सके।

बारह साल के इस बच्चे ने अपने आस पड़ोस में कचरा उठाकर पैसा इकट्ठा किया ताकि ऑस्ट्रेलियाई टीम को इंग्लैंड में एशेज खेलते देख सके। उसकी इस दीवानगी का तोहफा उसे क्रिकेटरों के साथ बस में यात्रा के रूप में भी मिला।

क्रिकेट डाट काम डाट एयू ने बताया कि 2015 में मैक्स वेट ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को अपनी सरजमीं पर विश्व कप जीतते देखा तो उसने ठान लिया कि चार साल बाद वो एशेज सीरीज देखने इंग्लैंड जरूर जाएगा। उसके पिता डेमियन वेट ने कहा कि अगर वो 1500 ऑस्ट्रेलियाई डालर कमा सका तो ही वो उसे इंग्लैंड लेकर जाएंगे।

बांग्लादेश के खिलाफ मैच के बाद टेस्ट से संन्यास लेंगे मोहम्मद नबी

मैक्स ने अपनी मां के साथ मिलकर सप्ताह के अंत में अड़ोस पड़ोस के घरों से कचरा उठाने का काम शुरू किया । हर घर से उसे एक डालर मिलने लगा। चार साल तक वो ये काम करता रहा। आखिर में उसने इतना पैसा जमा कर ही लिया कि उसके पिता पूरे परिवार को चौथा टेस्ट दिखाने इंग्लैंड ले आए।

मैक्स ने कहा, ‘‘मैं स्टीव वॉ, जस्टिन लैंगर और नाथन लियोन के बगल में बैठा। लैंगर ने मुझे प्लान बुक दिखाई जिसे देखकर मैं दंग रह गया। वॉ से मिलना अद्भुत रहा।’’

जीनियस खिलाड़ी हैं स्टीव स्मिथ, कोई गलती नहीं करते: पॉन्टिंग

उसे अपने दो पसंदीदा क्रिकेटरों से भी मिलने का मौका मिला। उसने कहा, ‘‘स्टीव स्मिथ और पैट कमिंस मेरे पसंदीदा क्रिकेटर हैं। मैने उनसे उनकी तैयारियों और खेल के बारे में बात की। बहुत मजा आया।’’ दूसरे दिन लंच के समय ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जेम्स पैटिंसन ने मैक्स को पूरी टीम के हस्ताक्षर वाली जर्सी भेंट की।