Australian pacer Mitchell Starc bulked up to challenge speed record
मिशेल स्टार्क © Getty Images

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क ने क्रिकेट के मिले ब्रेक के दौरान अपनी गेंदबाजी एक्शन में जरूरी बदलाव किया है, जिसके बाग वो एक बार फिर 100 mph की गति से गेंदबाजी कर सकेंगे।

बाएं हाथ के पेसर स्टार्क ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान ज्यादातर समय जिम में बिताया। चूंकि स्टार्क उन खिलाड़ियों में से हैं, जिन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग से नाम वापस ले लिया था, ऐसे में वो भारत के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज की तैयारी कर रहे हैं।

क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू वेबसाइट से बातचीत में इस खिलाड़ी ने कहा, “ये अच्छा होगा लेकिन साथ ही जब दो मौकों पर मैने 160 kph की रफ्तार से गेंदबाजी की है, मेरे पैर में चोट आई है। उम्मीद है कि इस बार ऐसा ना हो लेकिन जब सब कुछ अच्छा जा रहा है, लय में है और हालात भी मददगार हों तो मैं स्पीड बढ़ा सकता हूं।”

साउथम्पटन टेस्ट में इंग्लैंड की नजरें पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज जीतने पर

स्टार्क ने कहा, “शायद ब्रेक की वजह से जिम में बिताए अतिरिक्त समय के बाद मैं क्षमता को आगे बढ़ा सकूंगा। साल 2019-20 सीजन में और यूके दौरे के बाद, मैंने लाइन, लेंथ और स्थिरता की मानसिकता हासिल कर ली थी, जो कि एशेज के दौरान पूरे तेज गेंदबाजी अटैक ने दिखाई।”

उन्होंने कहा, “मेरे कहने का ये मतलब नहीं कि वो (स्थिरता) अहम नहीं है लेकिन मुझे लगता है कि इस छोटे से ट्विस्ट के साथ मुझे एक बीच का रास्ता मिल गया है जिसमें मेरे पास स्थिरता के साथ साथ गति भी है। मैं अब भी तेज गति से गेंदबाजी करना चाहता हूं लेकिन मुझे ऐसा रास्ता ढूंढना था जो महंगा ना साबित हो और मुझे लगता है कि मेरे एक्शन में इस छोटे से बदलाव ने उसमें मदद की है।”