australian players will have to make own arrangements for return says pm scott morrison
स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर @BCCI-IPL

इन दिनों भारत में आयोजित हो रही इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में ऑस्ट्रेलिया के कई खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. लेकिन भारत में कोविड- 19 (Covid- 19) की दूसरी लहर से हालात चिंताजनक हैं और इस लीग में खेल रहे खिलाड़ी यहां से वापस लौटना चाहते हैं. ऐसे में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की चाहत थी कि उनकी सरकार खिलाड़ियों की स्वदेश वापसी के लिए इंतजाम करें. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने साफ कर दिया कि भारत गए खिलाड़ियों को खुद से ये इंतजाम करने होंगे.

ऑस्ट्रेलिया ने इससे पहले भारत में कोरोना वायरस महामारी की घातक दूसरी लहर के मद्देनजर भारत से आने वाली सभी उड़ानों पर 15 मई तक प्रतिबंध लगा दिया था. मॉरिसन ने ‘द गार्जियन’ अखबार से कहा, ‘वे वहां निजी यात्रा पर गए हैं. यह किसी ऑस्ट्रेलियाई दौरे का हिस्सा नहीं है. वे अपने स्वयं के संसाधनों से वहां पहुंचे है, वे उन संसाधनों का भी उपयोग कर रहे हैं. मुझे यकीन है, वे अपनी व्यवस्था के अनुसार ऑस्ट्रेलिया लौटेंगे.’

ऑस्ट्रेलिया के तीन खिलाड़ी एंड्रयू टाय, केन रिचर्डसन और एडम जम्पा भारत में स्वास्थ्य संकट के बढ़ने के करण आईपीएल को छोड़ने का फैसला किया. भारत में प्रतिदिन तीन लाख से अधिक नए मामले दर्ज हो रहे हैं और 2,000 से अधिक मौतें हो रही हैं.

ऑस्ट्रेलिया के 14 खिलाड़ी अभी लीग में हैं. उनके अलावा कोच रिकी पोंटिंग और साइमन कैटिच, कॉमेंटेटर मैथ्यू हेडन, ब्रेट ली, माइकल स्लेटर और लीजा स्टालेकर भी यहां हैं.

मुंबई इंडियन्स के बल्लेबाज क्रिस लिन ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) से आईपीएल समाप्त होने के बाद खिलाड़ियों के स्वदेश लौटने के लिए विशेष विमान की व्यवस्था करने का आग्रह किया है. आईपीएल के लीग मैच 23 मई को समाप्त होंगे, जबकि फाइनल 30 मई को अहमदाबाद में खेला जाएगा.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने हालांकि इस मामले में अभी और इंतजार करने का फैसला किया है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर संघ ने संयुक्त बयान में कहा कि वे आईपीएल में शामिल अपने क्रिकेटरों, कोचों और कॉमेंटेटरों के संपर्क में हैं और हालात पर नजर रखे हुए हैं.

उन्होंने कहा, ‘हम भारत में मौजूद लोगों से फीडबैक लेते रहेंगे और ऑस्ट्रेलिया सरकार को सलाह देंगे. इस कठिन समय में हमारी संवेदनाएं भारत के लोगों के साथ हैं.’