Babar wants balance between proactive approach and playing as per situation demands
Twitter

कराची। पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने माना कि उनकी टीम को टेस्ट क्रिकेट में आक्रामक रूख अपनाने और परिस्थितियों के अनुकूल खेलने के बीच सामंजस्य बनाने की जरूरत है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी पिछली घरेलू श्रृंखला के दौरान पाकिस्तान की धीमी बल्लेबाजी की आलोचना हुई थी। टीम इस श्रृंखला में एक भी पारी में तीन रन से अधिक की रन गति हासिल करने में विफल रही थी।

बाबर ने टीम के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत खेली जाने वाली श्रीलंका के खिलाफ आगामी श्रृंखला से पहले सोमवार को कहा, ‘‘ हम टेस्ट क्रिकेट खेलने के तरीके को बदलने की कोशिश कर रहे हैं। जब दूसरी टीम आप पर हावी होती है तो यह बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होता है।’’

श्रीलंका दौरे पर जाने से पहले बाबर ने कहा, ‘‘हम स्थिति की परवाह किए बिना सकारात्मक खेलना चाहते हैं। लेकिन कई बार यह किसी निश्चित दिन के बारे मे होता है जब मैच जीतने के लिए आप रणनीति तय करते है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ आपको यह याद रखना चाहिए कि टेस्ट क्रिकेट की खूबसूरती परिस्थितियों के अनुरूप ढलने में होती है। अगर प्रतिद्वंद्वी टीम आप पर हावी है तो आप तेजी से रन नहीं बना सकते।’’

पाकिस्तान के कप्तान इस बात से अच्छी तरह वाकिफ हैं कि उन्हें श्रीलंका से स्पिनरों के अनुकूल पिचों पर चुनौती मिलेगी। उन्होंने कहा, ‘‘हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी मौजूदा टेस्ट श्रृंखला पर नजर रखे है। आप देख सकते हैं कि वहां स्पिनरों का दबदबा है। लेकिन हमने उनकी परिस्थितियों के अनुसार तैयारी की है और हमारे पास परिस्थितियों का फायदा उठाने के लिए यासिर शाह, नौमान अली, नवाज के रूप में अच्छे स्पिनर हैं।’’

बाबर को भरोसा है कि शाहीन शाह अफरीदी की अगुवाई में तेज गेंदबाज भी श्रृंखला में अपनी छाप छोड़ेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे अपने तेज गेंदबाजों पर भी भरोसा है, वे भी हावी रहेंगे। हमारे बल्लेबाज को वहां खेलने का अनुभव है और वे परिस्थितियों में आसानी से ढल जायेंगे। श्रीलंका एक युवा टीम है, वे अपनी परिस्थितियों को अच्छी तरह जानते हैं और उन्हें हल्के में नहीं लिया जा सकता है।’’

एजेंसी- पीटीआई भाषा