ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मेजबान टीम को बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border Gavaskar Trophy 2020-21) में 2-1 से हराकर लौटी टीम इंडिया की इस जीत पर अभी भी बाते हो रही हैं. आखिर हो भी क्यों न भारत ने इस बार अपने कई स्टार खिलाड़ियों के बिना यह सीरीज खेलकर ऑस्ट्रेलिया की मजबूत टीम को लगातार दूसरी बार उसी के घर पर जो मात दी है. इस टेस्ट जीत के बाद टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने कहा कि ‘बैंड बजाकर आ गए उनका’.

रवि शास्त्री स्टार स्पोर्ट्स पर ऑस्ट्रेलिया में भारत की इस ऐतिहासिक जीत पर बात कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘इस समय को दोहराना मुश्किल होगा, जहां कोई भी एक के बाद एक ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीत सकता है.’

उन्होंने कहा, ‘लोगों की याददाश्त कम होती है. आप अपने पूरे जीवन में दोबारा कभी ऐसा टाइम नहीं देखेंगे, जहां आप ऑस्ट्रेलिया में एक के बाद एक सीरीज जीत सकते हों.’

58 वर्षीय रवि शास्त्री ने कहा, ‘जब आखिरी बार हम वहां गए थे, तो लोगों ने कहा कि पिछली बार स्टीव स्मिथ नहीं थे वॉर्नर नहीं थे. इस बार हमारे पास कौन था? बैंड बजाके आ गए उनका.’ इस सीरीज में एडिलेड में शर्मनाक हार के बाद भारतीय टीम ने जिस तरह अपना जुझारूपन्न दिखाया शास्त्री ने उसकी जमकर तारीफ की. भारतीय टीम एडिलेड में 36 रन पर ऑलआउट हो गई थी.

https://twitter.com/BCCI/status/1357585788024672258?s=20

इसके बाद टीम को कप्तान विराट कोहली का साथ नहीं मिला क्योंकि उन्हें पितृत्व अवकाश पर भारत लौटना पड़ा और इसके साथ-साथ टीम के कई स्टार खिलाड़ी एक-एक कर चोटिल होते चले गए. लेकिन इस दौरान जिस भी युवा खिलाड़ी को मौका मिला उसने खुद को साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. शास्त्री ने कहा कि 36 पर ऑलआउट होने के बाद मैंने अपने खिलाड़ियों को यही समझाया था कि वह इस 36 को एक बैज की तरह पहन लें. यह उन्हें हमेशा बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करता रहेगा.