बांग्लादेश टीम © AFP
बांग्लादेश टीम © AFP

पूर्व भारतीय स्पिनर सुनील जोशी, जो मौजूदा समय में बांग्लादेश के स्पिन कंसल्टेंट के रूप में कार्य कर रहे हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला टेस्ट जीतने वाली बांग्लादेश टीम के स्पिनरों शाकिब अल हसन, मेहेदी हसन, और ताइजुल इस्लाम की जमकर तारीफ की। इन तीनों स्पिनरों ने पहले टेस्ट में करिश्माई गेंदबाजी का प्रदर्शन किया और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की कलई खोल दी। इन्होंने आपस में 19 विकेट झटके वहीं एक विकेट रन आउट के रूप में गिरा।

मीरपुर टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश के बीच चौथे दिन खासी गहमा-गहमी देखने को मिली। हर दूसरे पल मैच दोनों ओर झुकता नजर आ रहा था। आखिर में बांग्लादेश ने बाजी मार ली और मैच 20 रनों से जीत लिया। इस जीत के बाद मैदान पर खिलाड़ियों ने जश्न मनाया।

बांग्लादेश ने इस सीरीज के पहले ही सुनील जोशी को कंसल्टेंट के रूप में भर्ती किया था और उनका योगदान हर किसी को दिखाई पड़ रहा है। जोशी ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज एक खास तरह की गेंद भारत के खिलाफ नहीं खेल पा रहे थे और उन्होंने अपने स्पिनरों को वही गेंद फेंकने को कहा।

एक खास गेंद को पढ़ नहीं पा रहे थे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज: जोशी ने कहा, “एक गेंद है जिसे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज भारतीय टीम के खिलाफ सीरीज से ही पढ़ नहीं पा रहे हैं। जब तक यह सीरीज खत्म नहीं होती तब तक मैं उस बारे में ज्यादा नहीं बताऊंगा क्योंकि मैं नहीं चाहता कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी उसके खिलाफ नई योजना बना लें। लेकिन मैंने उनकी यह कमजोरी भारत के खिलाफ सीरीज के दौरान पकड़ ली थी। मैंने बांग्लादेशी गेंदबाजों से कहा कि उस गेंद को फेंको और उसने काम किया।”   [भारत बनाम श्रीलंका, चौथा वनडे, फुल स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें]

ऑस्ट्रेलिया का उपमहाद्वीप में पिछले 1 साल में रिकॉर्ड खासा खराब रहा है। भारत के खिलाफ ठंडियों में किए गए दौरे में, स्टीवन स्मिथ ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए अपनी टीम को पहले टेस्ट में जीत दिलवाई थी। तबसे ऑस्ट्रेलिया की उपमहाद्वीप में 8 टेस्ट मैचों में यह अकेली जीत है। इस सीरीज में भारतीय स्पिनरों रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की बखिया उधेड़ दी थी। अब बांग्लादेशी स्पिनरों ने जडेजा-अश्विन के उन्हीं वीडियोज को देखकर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी को ध्वस्त कर दिया।

बांग्लादेशी गेंदबाजों ने देखे जडेजा-अश्विन के वीडियो: जोशी ने बताया, “जाहिरतौर पर उन्होंने रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन के उस टेस्ट सीरीज के वीडियो देखे और समझा कि उन्होंने कैसे गेंदबाजी की। और ये मतलब भूलिए कि इन बांग्लादेशी स्पिनरों में भी बहुत क्वालिटी है।” जोशी ने भारत के लिए 15 टेस्ट और 69 वनडे खेले हैं। वह शाकिब अल हसन के प्रदर्शन से खासे खुश नजर आए।

शाकिब ने मैच में 10 विकेट लिए और पहली पारी में 84 रन बनाए। अपने ऑलराउंड प्रदर्शन के दमपर उन्होंने जीत की आधारशिला रखी।अपनी बात समाप्त करते हुए उन्होंने कहा, “इस बात में कोई दो राय नहीं है कि शाकिब गेंदबाजी आक्रमण के लीडर हैं।” जैसा कि सीरीज का एकमात्र टेस्ट बचा हुआ है इस तरह से ऑस्ट्रेलिया पर सूपड़ा साफ होने का खतरा मंडराने लगा है।