विकेटकीपर बल्लेबाज लिटन दास (रिटायर्ड हर्ट 126) के शतक और मोहम्मद मिथुन (50) के अर्धशतकीय पारी के दम पर बांग्लादेश ने जिम्बाब्वे को 169 रन से हराकर वनडे इतिहास की अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की. मेजबान बांग्लादेश की ओर से रखे गए 322 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी जिम्बाब्वे की पूरी टीम 39.1 ओवर में 152 रन पर ढेर हो गई. जिम्बाब्वे की ओर से वेस्ले मधेवेरे ने सर्वाधिक 35 रन की पारी खेली.

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया की टेस्ट सीरीज में पहली बार हुआ सफाया

इस जीत से बांग्लादेश ने 3 मैचों की वनडे सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है. इससे पहले बांग्लादेश की वनडे में सबसे बड़ी जीत 163 रन थी जो उसने साल 2018 में ढाका में श्रीलंका के खिलाफ 321 रन का लक्ष्य देकर हासिल की थी.

बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया. बांग्लादेश की ओर से सभी बल्लेबाजों ने उपयोगी योगदान दिया. लिटन ने अपनी शतकीय पारी में 105 गेंदों पर 13 चौके और 2 छक्के लगाए जबकि मिथुन ने अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान 41 गेंदों पर 5 चौके और एक छक्का जड़ा.

नजमुल हुसैन सांतो 29 जबकि ओपनर तमीम इकबाल 24 रन बनाकर आउट हुए. महमुदुल्लाह ने 32 वहीं मोहम्मद सैफुद्दीन 28 रन पर नाबाद लौटे. जिम्बाब्वे की ओर से मोंफू ने सर्वाधिक 2 विकेट चटकाए.

कोहली एंड कंपनी को हरा न्यूजीलैंड ने लगाया जीत का ‘सिक्सर’

लक्ष्य का पीछा करने उतरी जिम्बाब्वे की टीम की शुरुआत बेहद खराब रही. उसने 107 रन के भीतर अपने छह विकेट गंवा दिए थे. टीम नियमित अंतराल पर विकेट गंवाती चली गई. बांग्लादेश की ओर से सैफुद्दीन ने तीन जबकि मुर्तजा और मेहदी हसन मिराज ने 2-2 विकेट चटकाए. लिटन को उनकी शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.