© AFP
© AFP

हर साल बांग्लादेशी क्रिकेटरों के ऑफ फील्ड विवादों की खबरें सु्र्खियों में छाई रहती हैं। अब इस फेहरिस्त में नया नाम अराफात सनी का जुड़ा है। पत्नी नसरीन सुल्ताना ने सनी और उनकी मां पर दहेज मांगने और प्रताड़ना का आरोप लगाया है। यही नहीं बल्कि नसरीन ने आरोप लगाया है कि जब उनके परिवार वाले अपने दामाद (सनी) की मांग को पूरा नहीं कर सके तो उसने उन्हें छोड़ दिया।

खबरों के मुताबिक स्पिनर सनी ने साल 2014 दिसंबर में नसरीन सुल्ताना से शादी 5.1 लाख टका मेहर के साथ की थी। शादी के बाद वे नसरीन की बहन के यहां मोहम्मदपुर के कतासुर इलाके में रहते थे। उस समय चीजें ठीक थीं। लेकिन चीजें 29 जुलाई 2015 को बदल गईं जब सनी और उनकी मां ने दहेज के रूप में नसरीन से 20 लाख टका की मांग की और नसरीन को मजबूर करने की कोशिश की कि वह अपने पिता से यह रकम मांगे।

जब नसरीन ने अपने पिता से पैसे मांगने से इंकार कर दिया तो सनी ने उन्हें छोड़ दिया। मजबूर महिला ने जनवरी 5 को मोहम्मदपुर पुलिस स्टेशन में आईसीटी के तहत केस दर्ज करवाया। उन्होंने ये भी कहा कि सनी ने उनकी सहमति लिए बगैर सोशल मीडिया पर उनकी गुप्त फोटोज भी अपलोड की। इसके साथ, उन्होंने सनी के खिलाफ दो केस भी दर्ज कराए हैं जिसमें एक महिलाओं और बच्चों के दमन निवारण अधिनियम के अंतर्गत है और दूसरा दहेज निषेध अधिनियम के अंतर्गत।

[ये भी पढ़ें: न्यूजीलैंड की टीम पहुंची भारत, पहला वनडे 22 अक्टूबर को होगा]

सनी को 22 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया था जब पता चला कि दोनों पक्षों ने आपस में मामले को सुलझा लिया है। अब सनी को एक बार फिर से दोषी पाया गया है। इस बार उन्हें साइबर ट्रिब्यूनल ने दोषी करार दिया है। इस मामले में गवाहों के बयान 21 नवंबर से रिकॉर्ड किए जाएंगे।