© IANS
© IANS

केरल के बेहतरीन युवा गेंदबाज होने के साथ साल 2017 में आईपीएल इमर्जिंग प्लेयर का अवॉर्ड जीतने वाले बासिल थंपी को आखिरकार टीम इंडिया की टी20 टीम में जगह मिल गई है। ये सब बहुत तेजी से हुआ। 24 साल के तेज गेंदबाज थंपी पिछले कुछ समय से अपने बेहतरीन प्रदर्शन को लेकर चर्चाओं में रहे थे और इसलिए वे चयनकर्ताओं के रडार पर थे।

उन्होंने कहा कि जब उनका राष्ट्रीय टीम में सिलेक्शन हो गया तो इस बारे में उन्हें केसीए के सचिव जयेश जॉर्ज ने बताया। थंपी ने सूरत में पीटीआई से बातचीत में कहा, “मैं बहुत खुश और गर्वित महसूस कर रहा हूं। लेकिन जब केसीए के सेक्रेटरी जयेश जॉर्ज ने मुझे बताया कि मैं टीम इंडिया में चुन लिया गया हूं तो मैं हैरान रह गया। यह एक बेहतरीन पल है क्योंकि टीम इंडिया की ओर से खेलना हमेशा से मेरा सपना था।

थंपी आजकल केरल टीम के साथ हैं। केरल टीम रणजी ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल में 7 दिसंबर को विदर्भ से भिड़ेगी। वह अपनी टीम को रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहली बार पहुंचाने के लिए लालायित हैं। उन्होंने कहा, “पिछले एक साल में, मुझे एक गेंदबाज के तौर पर ज्यादा विश्वास मिला है और मुझे आशा है कि मैं श्रीलंका के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करूंगा। थंपी ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज मैक्ग्रा के अंडर में चेन्नई की एमआरएफ फाउंडेशन में ट्रेनिंग की है। केरल के थंपी ने कहा कि उन्होंने इस दौरान मैक्ग्रा से बहुत कुछ सीखा, खासतौर पर रफ्तार को बरकरार रखते हुए गेंदबाजी करना।

थंपी ने कहा, “मैक्ग्रा ने मुझे बताया कि मैं गेंदबाजी करते हुए अपनी रफ्तार को कम न करूं और मैंने इस बात को दिमाग में रखा और फाउंडेशन के हेड कोच सेंथिल सर ने बातचीत करते हुए भी काफी कुछ सीखा है। उन्होंने मुझे खासा प्रेरित किया और आत्मविश्वास दिया।”

इस साल के आईपीएल में गुजरात लायंस के लिए खेलने के साथ ही थंपी ने गजब की यॉर्कर गेंदें फेंकी थीं और जता दिया था कि वह जब चाहें तब यॉर्कर फेंक सकते हैं। थंपी अब इंटरनेशनल स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा, “इस साल का आईपीएल मेरे करियर के लिए टर्निंग प्वाइंट रहा, खासतौर पर मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच। आखिरी दो ओवरों में मैंने रोहित शर्मा और कायरॉन पोलार्ड जैसे बल्लेबाजों को 10 यॉर्कर्स डालीं। इसी वजह से लोगों का ध्यान मेरी तरफ गया।”

वह एमएस धोनी के विकेटकीपर रहते हुए गेंदबाजी करने के लिए उत्साहित हैं। उन्होंने कहा,”मैं एमएस धोनी के कीपिंग करते हुए गेंदबाजी करना चाहता हूं। ये मेरा सपना रहा है। आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने से मुझे विभिन्न विपक्षी टीमों के खिलाफ गेंदबाजी करने से विश्वास मिला है।” उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी इस फॉर्म को ए टीम के मैचों और दिलीप ट्रॉफी में जारी रखा।

अफगानिस्तान के मुजीब जादरान ने 16 साल की उम्र में 4 विकेट लेकर रचा इतिहास
अफगानिस्तान के मुजीब जादरान ने 16 साल की उम्र में 4 विकेट लेकर रचा इतिहास

थंपी ने अक्टूबर में इंडिया ए की ओर से न्यूजीलैंड ए के खिलाफ खेलते हुए चार गेंदों में 3 बल्लेबाजों को आउट किया था और इस तरह से उन्होंने विपक्षी टीम की पारी ढहा दी थी। वह मौजूदा रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट में भी बेहतरीन फॉर्म में रहे हैं और यॉर्कर फेंकते हुए विकेट हासिल किए हैं। थंपी ने यॉर्कर फेंकने की कला बचपन में टेनिस की गेंद से क्रिकेट खेलते हुए हासिल की है। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज टिनू योहानन, जो मौजूदा समय में केरल के कोच हैं, उन्होंने कहा कि यह थंपी को मिलने वाला बेहतरीन मौका है।

उन्होंने कहा कि थंपी ने विभिन्न टूर्नामेंटों में अच्छा प्रदर्शन कया है इसलिए उन्हें राष्ट्रीय टीम में जगह मिली है। योहानन ने कहा, “केरल टीम और केरल क्रिकेट के लिए ये वास्तव में अच्छा पल है। पिछले साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में अच्छे प्रदर्शन का उन्हें इनाम मिला है। वह बेहतरीन फॉर्म में हैं और मौके को भुनाने के लिए तैयार हैं।”