BCCI anti corruption unit start probe into alleged TNPL fixing charges
Ravichanderan Ashwin @ Twitter

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की भ्रष्टाचार रोधी ईकाई (एसीयू) के मुखिया अजीत सिंह ने कहा है कि तमिलनाडु क्रिकेट प्रीमियर लीग (टीएनपीएल) में भ्रष्टाचार संबंधी जांच शुरू कर दी गई है। साथ ही तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) अपनी समिति की जांच का भी इंतजार कर रही है जो बीते तकरीबन 20 दिनों से जारी है। ऐसी खबरें थी कि सट्टेबाजों ने टी-20 लीग को पैसा बनाने के लिए उपयोग में लिया।

टीएनसीए के अधिकारी ने कहा कि शुरुआती रिपोर्ट और कुछ खिलाड़ियों द्वारा संघ को सूचित करने के बाद से ही जांच जारी है जिसे कुछ दिन हो गए हैं।

पढ़ें:- ICC Test Ranking: ओवल टेस्‍ट के बाद आईसीसी ने जारी की रैंकिंग

अधिकारी ने कहा, “टीएनसीए की एक समिति है जो लगाए गए आरोपों के आधार पर इस मामले की जांच कर रही है। जांच रिपोर्ट अभी आना बाकी है, लेकिन यह जल्दी होना चाहिए। जो हो रहा है उसके बारे में टीएनसीए को काफी कुछ पता है और समिति भी जो जरूरी जांच है वो कर रही है। इसे तकरीबन 20 दिन हो गए हैं।”

टीएनपीएल में भारत के स्टार खिलाड़ी रविचंद्रन अश्विन, विजय शंकर, दिनेश कार्तिक, वॉशिंगटन सुंदर और मुरली विजय खेले थे। बीसीसीआई की एसीयू के अध्यक्ष ने कहा है कि ऐसे कुछ मौके थे जहां खिलाड़ियों से सट्टेबाजों ने संपर्क किया था।

पढ़ें:- बांग्लादेश ने बल्लेबाज सौम्य सरकार को टीम से किया बाहर

सिंह ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से कहा, “खिलाड़ियों ने हमें इस बारे में बता दिया था और हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि किसने उनसे संपर्क किया। हम उनसे पूछ रहे हैं कि उनसे कप संपर्क किया गया, किस स्थिति में संपर्क किया गया। आमतौर पर, मैसेज व्हॉट्सएप पर अते हैं तो हम आईडी तलाशने की कोशिश कर रहे हैं। हमने अभी तक किसी भी टीम के मालिक से सवालात नहीं किए हैं।”