बीसीसीआई © Getty Images
बीसीसीआई © Getty Images

चकाचौंध और ग्लैमर से भरे इंडियन प्रीमियर लीग के मीडिया अधिकारों की बोली में कई बड़ी कंपनियों की रूचि को देखते हुये बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने कहा कि राजस्व दिलाने के लिहाज से यह नीलामी ‘ऐतिहासिक’ हो सकती है। जौहरी ने पीटीआई से कहा, ‘‘सोमवार को होने वाली बोली से बीसीसीआई को रिकार्ड रकम मिल सकती है। हालांकि मैं किसी निश्चित संख्या की भविष्यवाणी नहीं कर सकता लेकिन हमारा मुख्य मकसद हर हितधारक के लिये पारदर्शी और ठोस बोली प्रक्रिया को लागू करने का है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम उच्चतम न्यायालय और प्रशासकों की समिति का हमारी इस प्रक्रिया पर भरोसा करने के लिए शुक्रिया करते है। आईपीएल दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग में से एक है जिसमें दुनिया भर के निवेशकों ने रूचि दिखाई है।’’ मीडिया अधिकारों को टेलीविजन और डिजिटल की श्रेणियों में बांटा गया है। 2018 से 2022 तक के लिये दिए जाने वाले इन अधिकारों की बोली से बीसीसीआई को 20 हजार करोड़ रुपये कमाई का अनुमान है। [ये भी पढ़ें: किंग्स इलेवन पंजाब बदलना चाहती है घरेलू मैदान, राजस्थान रॉयल्स को चाहिए नया नाम]

डिजिटल अधिकारों की दौड़ में एयरटेल और रिलायंस जियो के बीच मुख्य मुकाबला हो सकता है। पिछली बार यह अधिकार 2015 में तीन वर्षों के लिये नोवा डिजिटल ने 302.2 करोड़ रुपये में खरीद था जबकि 2007 में टीवी अधिकार सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को 10 साल के लिये बेचा गया था। [ये भी पढ़ें: भारत बनाम श्रीलंका पांचवें वनडे में बन सकते हैं ये बड़े रिकॉर्ड]

नीलामी के लिए मुख्य रुप से स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ताज टीवी इंडिया, अमेजन सेलर्स सर्विस प्राइवेट लिमिटेड, फॉलोऑन इंटरेक्टिव मीडिया, टाइम्स इंटरनेट लिमिटेड, सुपरस्पोर्ट इंटरनेशनल, गल्फ डीटीएच, ट्विटर, फेसबकु, डिस्कवरी, एयरटेल, याहू समेत कई बड़ी कंपनियां शामिल हैं।