bcci formally writes to cricket australia on relaxation of brisbane hard quarantine rule
भारत vs ऑस्ट्रेलिया @ICC Twitter

सिडनी टेस्ट के बाद टीम इंडिया बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border Gavaskar Trophy) का चौथा टेस्ट मैच ब्रिसबेन में खेलना है. यहां कोरोना वायरस (Coronavirus in Brisbane) के चलते क्वॉरंटीन के नियम काफी ज्यादा सख्त हैं. टीम इंडिया (India vs Australia Test Series) नवंबर के मध्य से ऑस्ट्रेलिया में है और वह यहां बायो-बबल (Bio Bubble in Australia) में रहकर यह सीरीज खेल रही है. ऑस्ट्रेलिया आते ही वह पहले से ही क्वॉरंटीन में समय बिता चुकी है. ऐसे में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) को ब्रिसबेन में सख्त क्वॉरंटीन नियमों में राहत देने के लिए लिखा है.

बीसीसीआई ने अपने इस लेटर में सीए को यह बात ध्यान दिलाई है कि मेहमान टीम ने दौरे की शुरुआत में ही सहमति के अनुसार कड़े क्वॉरंटीन नियमों (Hard Quarntine Rule in Brisbane) का पालन किया था. पता चला है कि बीसीसीआई के एक शीर्ष कार्यकारी ने सीए प्रमुख एर्ल एडिंग्स को दौरे के तौर तरीकों पर दोनों बोर्डों द्वारा हस्ताक्षर किए गए समझौते पत्र का हवाला दिया है, जिसमें अलग-अलग शहरों में दो कड़े क्वॉरंटीन प्रोटोकॉल का कोई जिक्र नहीं था.

ब्रिसबेन टेस्ट 15 जनवरी (IND vs AUS Brisbane Test) से शुरू होगा और क्वॉरंटीन के कड़े नियमों के अनुसार खिलाड़ियों को दिन के खेल के बाद अपने होटल के कमरों तक ही सीमित रहना होगा. बीसीसीआई के सीनियर अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘चर्चा अभी जारी है लेकिन आज बीसीसीआई ने औपचारिक रूप से लेटर भेजकर अपने खिलाड़ियों के लिए ब्रिसबेन में होने वाले मैच के लिए इन सख्त नियमों में राहत देने की मांग की है.’

अधिकारी ने कहा, ‘हस्ताक्षर किए गए समझौते पत्र में दो कड़े क्वॉरंटीन नियम का जिक्र नहीं किया गया था. भारत ने सिडनी में एक सख्त क्वॉरंटीन का पालन किया (जिसमें अभ्यास के बाद खिलाड़ी सीधे होटल के कमरे में पहुंचे).’

इस अधिकारी ने बताया, ‘बीसीसीआई ने मांग की है कि खिलाड़ी होटल बायो-बबल के अंदर एक दूसरे से मिलना जुलना चाहते हैं जैसा कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के दौरान करते थे. वे होटल के अंदर एक दूसरे के साथ खाना चाहते हैं और साथ में ही टीम मीटिंग करना चाहते हैं. यह कोई बड़ी मांग नहीं है.’

जहां तक सीए की सूचना का सवाल है तो उसने कहा है कि खिलाड़ी अपने कमरे के बाहर एक दूसरे से मिल सकते हैं लेकिन सिर्फ वे ही जो एक तल (फ्लोर) पर रुके हों. दो अलग-अलग फ्लोर पर रुकने वाले खिलाड़ी एक दूसरे के संपर्क में नहीं आ सकते जो बात कइयों को हास्यास्पद लगी.

इनपुट: भाषा