BCCI keeping all option open on coming under RTI act
बीसीसीआई मुख्‍यालय (फाइल फोटो)

बीसीसीआई ने खुद को सूचना के अधिकार ( आरटीआई ) के तहत लाने के मुद्दे पर सभी विकल्पों को खुला रहा है क्‍योंकि लॉ कमिशन ने पिछले सप्ताह बीसीसीआई को आरटीआई के दायरे में लाने की अनुशंसा की थी। बीसीसीआई हालांकि टीम चयन को इसके अंतर्गत लाने के पक्ष में नहीं है।

IPL 2018: उमेश यादव ने 100वें मैच में पूरे किए 100 विकेट
IPL 2018: उमेश यादव ने 100वें मैच में पूरे किए 100 विकेट

लॉ कमिशन ने कहा था कि बीसीसीआई को आरटीआई एक्‍ट के तहत लाया जाना चाहिए। उन्होंने जोर दे कर कहा कि बीसीसीआई पब्लिक अथॉरिटी के तहत काम करता है जिसे सरकार से वित्तीय मदद मिलती है। लॉ कमिशन की सिफारिशें हालांकि सरकार पर बाध्यकारी नहीं हैं , लेकिन बोर्ड इस विषय पर उनके रूख का इंतजार कर रहा है।

बोर्ड के अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर बताया , ‘‘

बीसीसीआई कानून आयोग की रिपोर्ट को सरकार के पास भेजने का इंतजार कर रहा है और सभी विकल्पों को खुला रखा है। बीसीसीआई को आरटीआई के तहत आना होगा। बीसीसीआई पारदर्शिता के लिए है और अगर इसका मतलब आरटीआई के तहत आना है तो इस पर विचार किया जाएगा। ’’ उन्होंने कहा , ‘‘ चयन समिति और कुछ अन्य चीजों को इसमें शामिल नहीं किया जा सकता है। तकनीकी और वित्त समिति आरटीआई का हिस्सा हो सकते है। ’’ प्रशासकों की समिति ( सीओए ) विनोद राय और डायना एडुल्जी ने भी आज यहां इस मामले पर चर्चा की। बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी भी इस बैठक का हिस्सा थे।