Bcci may change retentions policy before ipl 2022 auction due to two new teams
(IANS)

जहां एक तरफ इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) के 14वें सीजन के बचे हुए मैचों का आयोजन यूएई में कराने की तैयारी चल रही है, वहीं भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने आईपीएल 2022 की नीलामी की योजना बनानी भी शुरू कर दी है।

क्रिकबज में छपी खबर के मुताबिक अगले साल होने वाले मेगा ऑक्शन से पहले सभी टीमों को तीन-तीन खिलाड़ियों को रीटेन करने का मौका मिलेगा। हालांकि अभी तक इस फैसले पर फाइनल मुहर नहीं लगी है। चूंकि बोर्ड को अगले साल आठ टीमों की इस लीग में दो नई टीमों को जोड़ना है, ऐसे में रीटेशन पॉलिसी पर फिर से विचार किया जा रहा।

बहस ये चल रही थी कि क्या मौजूदा आठ फ्रेंचाइजी के लिए एक रीटेशन पॉलिसी होनी चाहिए और साथ ही ये भी तर्क दिया गया है कि यदि दो नई टीमों को शीर्ष खिलाड़ियों को खरीदने का मौका नहीं मिल पाता है तो क्या प्रतिद्वंद्विता बराबरी की होगी?

बीसीसीआई अभी तक टीमों को रीटेशन पॉलिसी के साथ राइट टू मैच (आरटीएम) कार्ड भी दे रहा था, जिसके माध्यम से टीमों के पास अपने खिलाड़ियों की नीलामी राशि की बराबरी करने का विकल्प था। यानि कि अगर वो चाहें तो नीलामी में बिकने के बाद भी अपने किसी खिलाड़ी को वापस हासिल कर सकते हैं।

इस बीच, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के आईपीएल 2021 में भाग लेने की उम्मीद है। BCCI और फ्रैंचाइज़ी के हवाले से खबर है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) की ओर से ऑस्ट्रेलियाई टीम के भाग लेने पर कोई रोक नहीं है। आईपीएल 2021 के बचे 14 मैच यूएई में आईपीएल 19 सितंबर से शुरू हो रहा है।

स्टीव स्मिथ, मार्कस स्टोइनिस, रिले मेरेडिथ, झाय रिचर्डसन, केन रिचर्डसन, मोइसिस हेनरिक्स और ग्लेन मैक्सवेल सहित 20 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने इस आईपीएल सीजन में हिस्सा लिया था। और समझा जाता है कि सीए ने इस फैसले को खिलाड़ियों पर छोड़ दिया है।

ऑस्ट्रेलियाई से पहले अन्य देशों – इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश और वेस्ट इंडीज के अधिकांश खिलाड़ी पहले ही भागीदारी की पुष्टि कर चुके हैं।