BCCI “offered to pay” West Indies players who threatened to pull out of 2014 ODI series againts India, says Dwayne Bravo
Dwayne Bravo, Kieron Pollard (Getty images)

दुनिया भर में मशहूर ऑलराउंडर खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो का कहना है कि साल 2014 में वेस्टइंडीज के भारत दौरे पर खेली गई वनडे सीरीज के दौरान बीसीसीआई ने विंडीज खिलाड़ियों को भुगतान करने की पेशकश की थी।

दरअसल इस दौरे पर वेस्टइंडीज बोर्ड और खिलाड़ियों के बीच सालाना कॉन्ट्रेक्ट को लेकर विवाद हो गया था। जिसके बाद कई विंडीज खिलाड़ियों ने सीरीज से नाम वापस लेने की धमकी दी थी। बीसीसीआई ने स्थिति की गंभीरता को समझते हुए मदद का हाथ बढ़ाया था।

ब्रावो ने i995 fm से बातचीत में कहा, “हां, वो समझते थे, क्योंकि वो हमारा काफी समर्थन करते हैं। असल में उन्होंने हमारे नुकसान की भरपाई करने की पेशकश की थी लेकिन हमने कहा कि ‘हम आपसे भुगतान नहीं लेना चाहते, हम चाहते हैं हमारा बोर्ड हमारे कॉन्ट्रेक्ट की परेशानी सुलझाए।”

भारत में लंबे समय से इंडियन प्रीमियर लीग खेल रहे ब्रावो ने आगे कहा, “बीसीसीआई बहुत ज्यादा मददगार था और यही कारण है कि हमसे से ज्यादातर खिलाड़ी बिना किसी परेशानी के लगातार खेलते रहे। मुझे अच्छी तरह याद है, हमारे पहला मैच ना खेलेंगे का बयान देने से पहले, बीसीसीआई प्रमुख एन श्रीनिवासन ने सुबह तीन बजे मुझे मैसेज किया था कि ‘कृपया मैदान पर आइए’। मैने उनकी बात मानी और 6 बजे उठकर टीम से कहा कि हम मैच खेलेंगे। सभी इसके खिलाफ थे। सभी को लगा कि मैं घबरा गया और डरकर ऐसा कर रहा हूं।”

ब्रावो ने आगे कहा, “हमने एक टीम के तौर पर मिलजुलकर फैसला लिया। मैने हर एक खिलाड़ी की बात सुनी। एक खिलाड़ी को छोड़कर सभी ने कागज पर साइन कर दिया कि हम इस दौरे को छोड़ने का समर्थन करते हैं। लेकिन हमने ऐसे ही दौरा छोड़कर जाने का फैसला नहीं किया। हमने कई बार WIPA के अध्यक्ष (वेवल हिंड्स) और क्रिकेट वेस्टइंडीज अध्यक्ष ( डेव केमरून) से संपर्क करने की कोशिश की थी। इसलिए हमने सीरीज से बाहर होने की धमकी दी थी लेकिन हमने पहला मैच खेला। हमने दूसरे मैच के लिए धमकी दी लेकिन हम फिर खेले। जिस मैच (चौथा मैच) से पहले हम बाहर गए (पूरी टीम ब्रावो के साथ टॉस के लिए आई थी), वो एक संदेश था कि जो भी हो रहा है हम उससे खुश नहीं हैं।”