BCCI president Sourav Ganguly: It is too early to say anything about 4-day Test
सौरव गांगुली (IANS)

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि 2023 से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के मैचों को चार दिवसीय टेस्ट फॉर्मेट में कराने के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के प्रस्ताव पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी।

चार दिवसीय टेस्ट पर जब गांगुली से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘सबसे पहले हमें प्रस्ताव देखना होगा, इसे आने दीजिए और इसके बाद हम देखेंगे। अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। बिना सोचे समझे टिप्पणी नहीं कर सकते।’’

आईसीसी की क्रिकेट समिति 2023 से 2031 के सीजन में टेस्ट मैचों को पांच दिवसीय की जगह चार दिवसीय करने पर औपचारिक विचार विमर्श करेगी।

कर्नाटक के खिलाफ रणजी मैच में खेलेंगे पृथ्वी शॉ, अजिंक्य रहाणे

चार दिवसीय मैचों की जरूरत में कई मुद्दे भूमिका निभा सकते हैं जिसमें आईसीसी की और अधिक वैश्विक प्रतियोगिताओं के आयोजन की चाहत और बीसीसीआई की इस सीजन में अधिक द्विपक्षीय मुकाबलों की मांग है। इसके अलावा दुनिया भर में टी20 लीग का प्रसार हो रहा है और पांच दिवसीय मैच की मेजबानी में होने वाला खर्च भी शामिल है।

चार दिवसीय टेस्ट की बात पहली बार नहीं की गई है। साल की शुरुआत में इंग्लैंड और आयरलैंड ने चार दिवसीय टेस्ट खेला था। इससे पहले 2017 में दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे ने भी ऐसा ही मैच खेला था। गांगुली ने क्रिकेट सलाहकार समिति के गठन पर भी कोई जानकारी नहीं दी जिसे राष्ट्रीय चयनकर्ताओं की नियुक्ति करनी है।