घरेलू क्रिकेट और फिर इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाले भारतीय स्क्वाड में मौका ना दिए जाने से कई पूर्व दिग्गज नाराज हैं। जिनमें से एक हैं पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकार (Dilip Vengsarkar)।

वेंगसरकर ने ना केवल यादव के फॉर्म को अनदेखा करने के लिए भारतीय टीम के चयनकर्ताओं की आलोचना की, बल्कि उन्होंने पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली से इस फैसले के पीछे का कारण तलाशने की अपील की।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, “मैं सूर्य, जो कि मौजूदा समय में देश के सबसे प्रतिभाशाली बल्लेबाजों में से एक हैं उसे ऑस्ट्रेलिया जाने वाले भारतीय स्क्वाड ना चुने जाने के फैसले से हैरान हूं। जहां तक क्षमता की बात है, मैं सूर्य को भारतीय टीम के सर्वक्षेष्ठ खिलाड़ियों के बराबर रख सकता हूं। उसने लगातार रन बनाए हैं, मुझे नहीं पता कि भारतीय टीम में जगह पाने के लिए और क्या करना होता है।”

उन्होंने कहा, “एक बल्लेबाज 26 से 34 के बीच अपने शीर्ष फॉर्म में होता है और मुझे लगता है कि सूर्य अपने करियर के टॉप फॉर्म में है। अगर फॉर्म और फिटनेस चयन का पैमाना नहीं है तो फिर क्या है? कोई ये बता सकता है?”

पूर्व कप्तान ने आगे कहा, “अब जबकि रोहित चोट की वजह से बाहर है तो मध्यक्रम की मजबूती बढ़ाने के लिए सूर्य को वहां होना चाहिए। बीसीसीआई अध्यक्ष गांगुली को सूर्य को ड्रॉप किए जाने के पीछे का कारण पूछना चाहिए।”

वेंगसरकर अकेले ऐसे शख्स नहीं हैं जिसे यादव के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाले भारतीय टीम में शामिल ना होने पर आश्चर्य हुआ। इससे पहले भारत के सीनियर स्पिनर हरभजन सिंह भी इस फैसले पर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं।

उन्होंने कहा, “पता नहीं सूर्यकुमार यादव को टीम इंडिया में चुने जाने के लिए और क्या करने की जरूरत है……वो हर आईपीएल और रणजी सीजन में प्रदर्शन करता आ रहा है… अलग लोगों के लिए अलग नियम हैं शायद। मैं सभी चयनकर्ताओं और बीसीसीआई से निवेदन करता हूं कि उसके रिकॉर्ड देखें।”

यादव का रिकॉर्ड:

यूएई में चल रहे आईपीएल के 13वें सीजन में यादव ने मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हुए 11 मैचों में 148.98 की स्ट्राइक रेट के साथ 283 रन बनाए हैं। वहीं पिछले साल विजय हजारे ट्रॉफी में यादव ने 8 मैचों में 113 की शानदार औसत से 226 रन जड़े थे। जबकि उसी सीजन सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट में उन्होंने 11 मैचों में 56 की औसत से चार अर्धशतकीय पारियों के दम पर 392 रन बनाए थे।

इससे पहले भारतीय क्रिकेटर मनोज तिवारी ने भी ट्विटर के जरिए सूर्यकुमार को ना चुने जाने पर नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने लिखा, “इस बार भारतीय टीम में जगह ना बना पाने वाले अक्षर पटेल और सूर्यकुमार यादव की किस्मत खराब रही। कुछ साल बाद, लोग कहेंगे कि ये दोनों खिलाड़ी गलत समय में खेले या पैदा हुआ लेकिन मैं कहूंगा कि ये दोनों खिलाडी आराम से अपने प्रतिद्वंद्वियों के साथ खेल सकते थे।”