भारत-इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले पांचवें और आखिरी टेस्ट मैच के रद्द होने के बाद हो रही चर्चा के बीच भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के सेक्रेटरी जय शाह (Jay Shah) ने पुष्टि की है कि बोर्ड ने जुलाई 2022 में भारतीय टीम के इंग्लैंड दौरे के दौरान इंग्लैंड और वेल्स को हुए नुकसान की भरपाई के लिए दो अतिरिक्त टी20 मैच खेलने की पेशकश की है।

क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने भारतीय खेमे में कोविड-19 के प्रकोप के कारण मैनचेस्टर टेस्ट रद्द कर दिया है। बीसीसीआई सचिव ने कहा कि अगर ईसीबी पांचवें टेस्ट को लेकर हो रहे विवाग को ढंग से सुलझाने के लिए सहमत हो जाता है तो दो अतिरिक्त टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों की पेशकश कायम रहेगी।

शाह ने सोमवार को क्रिकबज को बताया, “ये सही है कि जब हम अगले जुलाई में इंग्लैंड का दौरा करेंगे (केवल सफेद गेंद के खेल के लिए) दो अतिरिक्त टी20 आई खेलने की पेशकश की है। तीन टी20 आई के बजाय, हम पांच टी20 खेलेंगे। वैकल्पिक रूप से, हम एक टेस्ट मैच खेलने के लिए भी तैयार हैं। ये उन पर निर्भर करता है कि वो इनमें से किसी एक प्रस्ताव को चुनें।”

यूके में डेली मेल ने सोमवार को बताया कि पुनर्निर्धारित टेस्ट की पेशकश अभी भी कायम है। पता चला है कि बीसीसीआई ने एक टेस्ट मैच या दो टी20 मैच चुनने का अधिकार ईसीबी पर छोड़ दिया है जो अगले साल इंग्लैंड की यात्रा के दौरान खेला जा सकता है।

अगर ईसीबी एक टेस्ट खेलने का विकल्प चुनता है, तो ये एक सीरीज का पांचवां मैच होगा जैसा कि बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) पहले ही कह चुके हैं।