BCCI vs Ministry ‘cold war’ leaves South Africa A’s India tour in limbo
bcci-logo

बीसीसीआई को अभी तक खेल मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिलने के कारण दक्षिण अफ्रीका की ए टीम और महिला टीम का अगस्त-सितंबर में होने वाला भारत दौरा खटाई में पड़ गया है।

पढ़ें: तेंदुलकर के साथ और पाकिस्तान के खिलाफ खेलना अहम रहा: वेणुगोपाल

आम तौर पर जब कोई टीम भारत का दौरा करती है तो बीसीसीआई खेल मंत्रालय को कार्यक्रम बताकर मंजूरी लेता है जिससे मेहमान टीम को वीजा प्रक्रिया में परेशानी नहीं आती। यह मंजूरी पत्र दौरे से 30 से 45 दिन पहले मिल जाता हैं।

बीसीसीआई का दावा है कि उसने मार्च में आवेदन दे दिया था और वह मंजूरी पत्र का इंतजार कर रहा है। खेल मंत्रालय के अधिकारी का कहना है कि उन्हें अभी तक पत्र नहीं मिला है।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, ‘खेल मंत्रालय को मंजूरी के लिए आवेदन मार्च में ही दे दिया गया था। अभी तक उनकी ओर से ऐसा विलंब पहले कभी नहीं हुआ। ए सीरीज और महिला टीम का दौरा अगस्त के आखिर में शुरू होकर सितंबर की शुरूआत तक चलेगा।’

पढ़ें: …इन खिलाड़ियों के इर्द-गिर्द रहेगा एशेज सीरीज का रोमांच

अधिकारी ने कहा, ‘मंत्रालय का मंजूरी पत्र दक्षिण अफ्रीका में भारतीय दूतावास को भेजा जाएगा जिससे वीजा प्रक्रिया में मदद मिलेगी। देरी से कई परेशानियां खड़ी हो जायेंगी। पता नहीं देरी क्यों हो रही है।’

मंत्रालय के एक सूत्र ने कहा कि उन्हें बीसीसीआई से कोई पत्र नहीं मिला।

उन्होंने कहा, ‘मीडिया के पास जाने की बजाय बीसीसीआई अधिकारियों को मंत्रालय आना चाहिये था । बीसीसीआई को किसी भी लंबित मसले के लिये मंत्रालय आना होगा, इसका उलटा नहीं होगा।’

क्रिकेट बोर्ड के एक तबके का मानना है कि मंत्रालय चाहता है कि देश का सबसे अमीर खेल महासंघ पूरी तरह से राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी के तहत आ जाए।