BCCI wants turning pitches in domestic cricket after Indian batsmen’s struggle against overseas spinners
Indian Test Team (Getty Images)

पिछले कुछ महीनों में विदेशी स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ भारतीय खिलाड़ियों के संघर्ष को देखने के बाद बीसीसीआई ने प्रथम श्रेणी मैचों में ज्यादा टर्ना वाली पिच बनाने की मांग की है। टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक बोर्ड ने क्यूरेटर्स से कहा कि वो सीम पिचों से ध्यान हटाकर ज्यादा टर्न वाली पिच बनाएं।

रिपोर्ट में बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, “क्यूरेटर्स को मोइन अली के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों की परेशानी के बारे में बताया गया। पूर्व इंग्लिश स्पिनर जर्मी स्नेप और जेम्स ट्रेडवेल जैसे नामों का भी उल्लेख किया गया। ऑस्ट्रेलिया की पिचों पर नाथन लॉयन की गेंदबाजी के वीडियोज का अध्धयन किया गया। अगर उन उछाल भरी, सीम की मददगार पिचों पर लॉयन जैसे फिंगर स्पिनर को पहले दिन इतना ज्यादा टर्न मिल सकता है तो भारतीय पिच भी इस तरह का संतुलन बना सकती हैं।”

बता दें कि पहले बीसीसीआई ने ही सीम फ्रेंडली पिचों की मांग की थी। जिसके बाद क्यूरेटर्स ज्यादातर हरी घास वाली पिच तैयार कर रहे थे, जिन पर टेस्ट मैच में तीसरे दिन के बाद टर्न मिलना शुरू होता है। इतना ही नहीं बोर्ड अब रणजी सीजन के दौरान टीमों के जरिए अपने हिसाब की पिच तैयार करने से बचने के लिए उदासीन क्यूरेटर्स को लाने का सिस्टम तैयार कर रही है। गौरतलब है पूर्व भारतीय कोच अनिल कुंबले ने ये मुद्दा उठाया था, जिसे सीनियर क्रिकेटर गौतम गंभीर का समर्थन मिला था।