भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) सचिव जय शाह (Jay Shah) ने शुक्रवार को कहा कि बोर्ड महिलाओं के लिए सीनियर राष्ट्रीय टी20 और सीके नायडू के लिये राष्ट्रीय अंडर-25 टूर्नामेंट मार्च और मई के बीच आयोजित कराकर अपनी बची हुई घरेलू प्रतियोगिता बहाल करने को तैयार है।

जनवरी में कोविड-19 की तीसरी लहर के कारण रणजी ट्रॉफी सेशन बाधित होने के बाद अब दूसरे दौर में है। तीसरी लहर से पूरे घरेलू कैलेंडर पर खतरा बना हुआ था लेकिन अब चीजों के धीरे धीरे सही होने की उम्मीद है।

शाह ने विभिन्न राज्य संघों को एक पत्र में लिखा, ‘‘हमने रणजी ट्राफी 2021-22 का पहला दौर पूरा कर लिया है, इससे मुझे आपको यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि सीनियर महिला टी20 ट्राफी और कर्नल सीके नायडू ट्राफी 2021-22 मार्च से मई महीनों के दौरान आयोजित होगी। बीसीसीआई टूर्नामेंट के ड्रा और सुरक्षा प्रोटोकॉल की जानकारी आने वाले समय में साझा करेगा।’’

बल्कि सीनियर महिला टी20 और अंडर-25 (पहले अंडर-23) से सुनिश्चित होगा कि घरेलू क्रिकेटरों के लिए फिर से आय का जरिया शुरू हो जाएगा जो बंद हो गया था।

टूर्नामेंट इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के साथ साथ ही कराये जायेंगे जिससे देश के अंपायरों और स्कोरर को काफी फायदा मिलेगा जो केवल घरेलू और आयु वर्ग के टूर्नामेंट पर ही निर्भर होते हैं।

हालांकि बीसीसीआई को कूच बिहार ट्राफी के क्वार्टर फाइनल के बारे में ‘नॉटिफिकेशन’ देना बाकी है जिसके अप्रैल में खेले जाने की उम्मीद है जब ज्यादातर लड़कों की वार्षिक परीक्षा खत्म हो जायेगी।