इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में आखिरी बार कप्तानी करते नज़र आएगे महेंद्र सिंह धोनी। © Getty Images
इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में आखिरी बार कप्तानी करते नज़र आएगे महेंद्र सिंह धोनी। © Getty Images

अनुराग ठाकुर और अजय शिर्के को पद से हटाने के बाद भी बीसीसीआई के विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। बीसीसीआई सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ असहयोग आंदोलन चला रही है जिससे भारतीय क्रिकेट प्रभावित हो रहा है। पहले बोर्ड ने क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया को इंग्लैंड टीम के दो अभ्यास मैच आयोजित करने से रोकना चाहा लेकिन ऐसा करने में वह नाकाम रहे। इस वजह से अब वह नए तरीकों से मैच को अवरुद्ध करने की कोशिश कर रहे हैं। बीसीसीआई मुंबई पोलिस द्वारा सुरक्षा इंतजाम के लिए मांगे जा रहे 60 लाख रुपए देने से इनकार कर रही है। जिसका मतलब है कि दोनों अभ्यास मैच खाली स्टेडियम में खेलने पड़ेंगे क्योंकि अगर सुरक्षा के लिए पोलिस नहीं होगी तो दर्शकों को स्टेडियम मे आने नहीं दिया जाएगा। बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी इस मैच में आखिरी बार कप्तानी करने नज़र आएगे, इस वजह से भीड़ कुछ ज्यादा होगी। जिस कारण मुंबई पोलिस को कड़े इंतजाम करने होंगे। ये भी पढ़ें:कप्तानी छोड़ने के लिए महेंद्र सिह धोनी पर डाला गया था दबाव

माना जा रहा है कि भारत बनाम इंग्लैंड अभ्यास मैच देखने के लिए 15,000 से अधिक दर्शक स्टेडियम में मौजूद होंगे। स्थिति के मद्देनज़र सुरक्षा के लिए ज्यादा पुलिसकर्मियों की जरूरत पड़ेगी। इस वजह से मुंबई पुलिस ज्यादा पैसे मांग रही है। पहले मैच में धोनी भारत ए टीम की कप्तानी करेंगे जिसमें युवराज सिंह और शिखर धवन जैसे बड़े नाम शामिल हैं। सीसीआई को इस मैच के आयोजन के लिए बीसीसीआई से एक लाख रुपए मिलेंगे। हालांकि अभ्यास मैचों में सुरक्षा की फीस दस लाख होती है जिसे चुकाने के लिए सीसीआई तैयार है। लेकिन धोनी और युवराज जैसे खिलाड़ियों की उपस्थिति के कारण मुंबई पोलिस ने सुरक्षा इंतजास की फीस बढ़ाई है। इसलिए उन्होंने मुंबई पोलिस को बीसीसीआई से सीधे बात करने के लिए कह दिया है। ये भी पढ़ें:इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम बार कप्तानी करते नजर आएंगे एमएस धोनी

लेकिन बीसीसीआई के इस रवैये से लगता है कि केवल क्लब के सदस्य ही दोनों अभ्यास मैच देखे सकेंगे। फैंस को अपने पसंदीदा खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को अंतिम बार कप्तानी करते देखने के लिए टेलीविजन का सहारा लेना होगा। बीसीसीआई का यह कदम क्रिकेट प्रेमियों को काफी बुरा लग सकता है।