Ben Stokes gets emotional after helping England level series against New Zealand
Ben Stokes © Getty Images

ब्रिस्टल विवाद के कारण पांच माह तक क्रिकेट जगत से बाहर हुए बेन स्टोक्स की आंखों में इस विवाद का दुख उस वक्त छलक पड़ा, जब वो ओवल मैदान से इंग्लैंड के लिए 63 रनों की शानदार नाबाद पारी खेल पिच से पवेलियन की ओर लौटे। न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पांच वनडे मैचों की सीरीज के दूसरे मैच में इंग्लैंड ने स्टोक्स के शानदार प्रदर्शन के दम पर छह विकेट से जीत हासिल की और सीरीज का स्कोर 1-1 से बराबर किया।

दादा ने अपनी आत्‍मकथा में लिखा, अगर 2003 में धोनी होता तो मेरी कप्‍तानी में भी आता विश्‍व कप
दादा ने अपनी आत्‍मकथा में लिखा, अगर 2003 में धोनी होता तो मेरी कप्‍तानी में भी आता विश्‍व कप

इस मैच में स्टोक्स ने न केवल इंग्लैंड के लिए शानदार पारी खेली, बल्कि दो विकेट भी लिए। इस प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, मैच के बाद एक बयान में स्टोक्स ने कहा, “मैं इस बात को सुनिश्चित करना चाहता था कि मैं किसी को निराश न करूं।”  न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी कर इंग्लैंड के सामने 224 रनों का लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य को हासिल करने उतरी इंग्लैंड ने 86 रनों के स्कोर पर अपने तीन विकेट गंवा दिए थे, जब स्टोक्स ने टीम की पारी संभाली।

स्टोक्स ने इसके बाद इयोन मोर्गन के साथ 88 और जोश बटलर के साथ 51 रनों की साझेदारी कर चार विकेट के नुकसान पर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया। स्टोक्स ने कहा, “हमारी टीम एक-दूसरे के इतने करीब है कि मुझे लगा ही नहीं कि मैं इतने समय तक टीम से दूर था। मैं सभी साथी खिलाड़ियों के संपर्क में था। सच कहूं तो जीत के बाद मैं काफी भावुक हो गया था। मेरे लिए पिच से लौटते वक्त का एहसास बेहद अच्छा था।”