भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली इंग्‍लैंड के खिलाफ मौजूदा वनडे सीरीज के दौरान अपने चिर-परिचित अंदाज में ही मैदान पर आक्रामक नजर आ रहे हैं. विराट के ये शैली भले ही भारतीय फैन्‍स को खूब भा रही हो लेकिन इंग्‍लैंड की टीम के उपकप्‍तान बेन स्‍टोक्‍स इससे इत्‍तेफाक नहीं रखते.

पुणे के महाराष्‍ट्र क्रिकेट स्‍टेडियम में होने वाले दूसरे वनडे मुकाबले से पहले बेन स्‍टोक्‍स ने कहा कि विराट की शैली इंग्लैंड की कार्य प्रणाली पर फिट नहीं बैठती. ‘‘प्रत्येक टीम और प्रत्येक खिलाड़ी मैदान पर विशेष तरह का रवैया अपनाते हैं जिससे कि उन्हें सफलता मिलती है. पिछले चार पांच वर्षों में यह तरीका हमारे लिये अनुकूल नहीं रहा है.’’

…हर टीम का अपना तरीका

बेन स्‍टोक्‍स ने आगे कहा, ‘‘हम उस पर कायम रहते हैं जो हमारे लिये सर्वश्रेष्ठ है और जिससे हमारी टीम बेहतर टीम बनती है. हर टीम का अपना तरीका होता है. भारत का अपना तरीका है और हमारा अपना. ’’ स्टोक्स से पूछा गया कि वह एक भले या आक्रामक विराट में से किसे पसंद करते हैं, उन्होंने जवाब दिया, ‘‘निजी तौर पर मैं चाहता हूं कि वह रन नहीं बनाये क्योंकि यह हमारे लिये अच्छा नहीं है. ’’

…नंबर-1 रैंकिंग गंवाने का खतरा

उन्होंने कहा, ‘‘हम नंबर एक के हकदार थे क्योंकि हमने अच्छे परिणाम हासिल किये और हमने अच्छी क्रिकेट खेली और हम उससे भटकेंगे नहीं. नंबर एक होना वास्तव में अच्छी बात है लेकिन यह हमारे लिये प्रेरणातत्व नहीं है.’’

… नंबर-3 पर स्‍टोक्‍स

जो रूट की अनुपस्थिति में इस ऑलराउंडर को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरना पड़ रहा है. स्टोक्स ने खुलासा किया कि उन्होंने इस नयी भूमिका के लिये अपनी मानसिकता नहीं बदली है.

…जो रूट का संदेश

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने असल में रूट से नंबर तीन पर उनकी मानसिकता के बारे में जानना चाहा था. उनका स्पष्ट संदेश था, तुम जैसा खेलते हो, वैसा खेलना जारी रखो. रूट का खेलने का अपना तरीका है और इसका मतलब यह नहीं है कि मैं भी उसी तरह से खेलूं. ’’

….अधिक गेंद खेलने का मौका

स्टोक्स ने कहा, ‘‘तीसरे नंबर पर मुझे 100 गेंदें खेलने को मिल सकती हैं जबकि अमूमन मुझे 60-70 खेलने को मिलती हैं. मैं बहुत अधिक बदलाव पर गौर नहीं कर रहा हूं. मुझे विशेषकर अपनी पारी की शुरुआत में थोड़ी भिन्न परिस्थिति का सामना करना पड़ सकता है.’’