Ben Stokes: Playing in the empty stadium will not reduce the competitive spirit
बेन स्टोक्स (IANS)

इंग्लिश ऑलराउंडर बेन स्टोक्स का कहना है कि अगर खाली स्टेडियमों में क्रिकेट मैच खेले जाते हैं तो भी प्रतिस्पर्धा की भावना कम नहीं होगी। उन्होंने ‘बीबीसी रेडियो फाइव लाइव’ कहा कि कोविड-19 महामारी पर नियंत्रण तक अगर क्रिकेट के सिर्फ टेलीविजन के दर्शकों के लिए खेला जाए तो भी उन्हें कोई शिकायत नहीं होगी।

इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने संकेत दिया है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी सीरीज को दर्शकों के बिना खेला जा सकता है। इस पर जब स्टोक्स से उनकी राय मांगी गई तो उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि दर्शकों के बिना खेलने में परेशानी होगी। हम अपने देश का प्रतिनिधित्व करते है। हमें देश के लिए जीतना होता है। ऐसे में मैदान में दर्शक रहे या नहीं रहे इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता।’’

दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम में खेलने के आदि हो चुके स्टोक्स ने हालांकि माना कि दर्शकों के बिना खेलने का अभ्यस्त होने में थोड़ा समय लगेगा।

इंग्लैंड को वनडे विश्व कप बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले स्टोक्स ने कहा, ‘‘ये बिल्कुल अलग अनुभव होगा क्योंकि जब हम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलेगें तो हमारे हौसलाअफजाई के लिए कोई नहीं होगा।’’

इस नेक काम के लिए पहली बार हाफ मैराथन में दौड़ेंगे ऑलराउंडर बेन स्टोक्स

इंग्लैंड के लिए 63 टेस्ट, 95 वनडे और 20 टी20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले स्टोक्स ने कहा मौजूदा स्थिति में सबसे अच्छा विकल्प यही है कि स्वास्थ्य सुरक्षा की जरूरतों को पूरा करते हुए टेलीविजन के लिए क्रिकेट खेली जाए।

उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग क्रिकेट देखते है और उसका अनुसरण करते हैं उसके लिए टीवी पर क्रिकेट को वापस लाने के लिए हम कुछ भी करेंगे। इसका मतलब यह हुआ कि अगर हमें मैदान में दर्शकों के बिना जाना पड़े तो जाएंगे।’’