Ben Stokes: We’d like to have won it, but we haven’t lost anything
बेन स्टोक्स (AFP)

ओवल टेस्ट में इंग्लैंड की जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू एशेज सीरीज ड्रॉ पर खत्म हुई। प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे इंग्लिश ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने कहा कि वो सीरीज जीतना पसंद करते है लेकिन इंग्लैंड हारा नहीं है।

पहले विश्व कप ट्रॉफी जीतना और फिर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज 2-2 पर खत्म करना इंग्लैंड के लिए बड़ी उपलब्धियां हैं। इस बारे में स्टोक्स ने कहा, “इंग्लैंड के इस सीजन एक भी मैच खेलने से पहले हमे पता था कि हमारे सामने विश्व कप और एशेज है और अब हम यहां विश्व कप विजेता के तौर पर और एशेज सीरीज ड्रॉ कर खड़े हैं। जाहिर है कि हम जीतना पसंद करते लेकिन हम कुछ हारे भी नहीं है।”

हालांकि स्टोक्स ने माना कि वो हेडिंग्ले टेस्ट की रोमांचक जीत को एशेज सीरीज जीत से बदल सकते तो वो ऐसा जरूर करते। उन्होंने कहा, “कई बेहद शानदार और निराशाजनक पल रहे हैं जिन पर मैं विश्वास नहीं कर पा रहा हूं लेकिन वो हुए हैं और मैं वो पल हमेशा याद रखूंगा जब हम विश्व कप विजेता बने या फिर हेडिंग्ल में जीते। लेकिन जितना अच्छा वो दिन था, अगर मौका मिला तो मैं हेडिंग्ले के उस रोमांच को एशेज सीरीज से बदल दूंगा।”

मैंने ही चश्मे में स्टीव स्मिथ के साथ एक तस्वीर खिंचवाने के बारे में सोचा था’

हेडिंग्ले में खेले गए तीसरे एशेज टेस्ट में इंग्लैंड बेन स्टोक्स की शानदार शतकीय पारी की मदद से 362 का असंभव लग रहा लक्ष्य हासिल कर एक विकेट से जीत हासिल की थी।

स्टोक्स इस एशेज सीरीज में स्टीव स्मिथ (774) के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज हैं। उन्होंने 10 पारियों में 55.12 की औसत से 441 रन बनाए, साथ ही 8 विकेट भी लिए और प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे। इस पर स्टोक्स ने कहा, “मैं केवल जितने हो सके उतने मैचों में प्रभाव डालना चाहता था और इंग्लैंड को इस सीजन ज्यादा से ज्यादा मैच जिताना चाहता था।”

एशेज सीरीज में अपने शानदार प्रदर्शन से गौरवान्वित हैं स्टीव स्मिथ

स्टोक्स ने इंग्लैंड के इस शानदार सीजन के बारे में कहा, “अभी पूरी तरह से यकीन नहीं हुआ है लेकिन एक समय के बाद मैं पीछे मुड़कर देख सकूंगा कि हमने बतौर टीम वनडे और टेस्ट में इस साल क्या हासिल किया है। कितने लोग इस सीजन के दौरान अलग अलग समय पर आगे आए हैं और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ओवल में लिया वो कैच काफी समय पहले का लगता है लेकिन मुझे लगता है वहीं से इसकी शुरुआत हुई थी।”