Bhuvneshwar felt Babar’s wicket disrupted Pakistan’s plan as the team relies on him to anchor the innings
bcci

दुबई। एशिया कप के पहले मैच में पाकिस्तान पर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले खिलाड़ियों में शामिल रहे तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार का मानना है कि प्रत्येक विरोधी खिलाड़ी के खिलाफ ठोस योजना होना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना मैदान पर अपने कौशल का प्रदर्शन करना।

भुवनेश्वर ने पाकिस्तान के खिलाफ भारत की पांच विकेट की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए विरोधी कप्तान बाबर आजम के विकेट सहित चार विकेट चटकाए। इस 32 वर्षीय तेज गेंदबाज ने पाकिस्तानी कप्तान को अपने दूसरे ही ओवर में बाउंसर से हैरान किया जिन्होंने पुल करने की कोशिश में शॉर्ट फाइन लेग पर अर्शदीप सिंह को कैच थमाया।

भुवनेश्वर ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘खिलाड़ी के लिए महत्वपूर्ण है कि उसके पास पहले से ही योजना हो, फिर चाहे यह बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी क्योंकि टी20 काफी तेजी से बदलने वाला प्रारूप है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘विकेट से स्विंग करने में मदद नहीं मिल रही थी और उछाल भी अधिक था इसलिए हमने योजना बनाई। हम जानते थे कि बल्लेबाज की ताकत क्या है और जब हम कुछ और गेंद फेंकते हैं तो हमें बेहतर नजरिया मिलता है।’’

इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘मेरा मानना ​​है कि खेल के बारे में सोचना इतना ही महत्वपूर्ण है जितना आपका कौशल।’’ भारतीय टीम ने शॉर्ट पिच गेंदों से पाकिस्तान के बल्लेबाजों को परेशान किया और आखिरकार विरोधी टीम को 147 रन पर समेट दिया। भुवनेश्वर को लगता कि बाबर के विकेट ने पाकिस्तान की योजना को नुकसान पहुंचाया क्योंकि पारी को संवारने के लिए वह उन पर निर्भर करती है।

उन्होंने कहा, ‘‘बाबर के आउट होने के बाद हमने यह नहीं सोचा था कि पाकिस्तान की आधी टीम आउट हो गई है। वह एक अच्छा खिलाड़ी है लेकिन तकनीकी रूप से नौ अन्य बल्लेबाज बाकी थे।’’ भुवनेश्वर ने कहा, ‘‘एक टीम के रूप में हमें नहीं लगता कि अगर सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज आउट हो जाता है तो आधी टीम आउट हो जाती है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन हां एक बार जब वह आउट हो गए तो हमें पता था कि उनकी योजना प्रभावित होगी क्योंकि पारी को संजोकर रखने वाला बल्लेबाज आउट हो गया था।’’ चोट से जूझने के बाद भुवनेश्वर ने लय हासिल कर ली है। अपनी गेंदबाजी के बारे में बात करते हुए इस तेज गेंदबाज ने कहा कि उन्होंने कुछ भी नहीं बदला है।

भुवनेश्वर ने कहा, ‘‘मैं उसी तरह अभ्यास कर रहा हूं। हर किसी लिए खराब मैच आता है लेकिन मैंने कुछ भी नहीं बदला है। कभी-कभी आपको भाग्य की आवश्यकता भी होती है।’’ भुवनेश्वर रविवार के गेंदबाजी प्रदर्शन से खुश दिखे।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं केवल विकेटों से नहीं बल्कि प्रदर्शन से बहुत खुश हूं। हां जब आप विकेट लेते हैं तो आपको योगदान देकर खुशी महसूस होती है लेकिन कभी-कभी किफायती गेंदबाजी करना भी टीम के लिए योगदान होता है।’’

हार्दिक पंड्या ने भारत को छक्के के साथ जीत दिलाने से पहले गेंद से भी शानदार प्रदर्शन किया। भुवनेश्वर को लगता है कि यह टीम के लिए अच्छा है कि यह आलराउंडर इतनी अच्छी फॉर्म में है।

उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित रूप से (वह विश्व कप में एक प्रमुख खिलाड़ी होगा), जिस तरह से वह पिछली कुछ श्रृंखलाओं में बल्लेबाजी और गेंदबाजी कर रहा है। वह अच्छी फॉर्म में है और अगर वह इसे जारी रखता है तो यह विश्व कप में हमारे लिए अच्छा होगा।’’

भारत को पिछले साल इसी मैदान पर टी20 विश्व कप में पाकिस्तान से 10 विकेट से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा था। भुवनेश्वर ने कहा, ‘‘हम पाकिस्तान के खिलाफ उस मैच को भुला चुके थे जो हम पिछले साल हार गए थे। ईमानदारी से कहूं तो एक क्रिकेटर के रूप में हम परिणाम के बारे में नहीं सोचते।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम अन्य टीम के खिलाफ भी हारते हैं लेकिन हम पाकिस्तान के खिलाफ हारने की तुलना में उस मैच के बारे में अधिक बात नहीं करते हैं। हम बस सब कुछ पीछे छोड़ देते हैं और आगे बढ़ते रहते हैं।’’