Bowlers know what I can do in the World Cup, Say Chris Gayle
Chris Gayle (File Photo) @ Getty Images

अपना पांचवां विश्व कप खेलने जा रहे वेस्टइंडीज के अनुभवी सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल का मानना है कि गेंदबाजों को अच्छी तरह से पता है कि वह क्या करने में सक्षम हैं और इसलिए गेंदबाज उनसे डरते हैं, हालांकि वे इसे मानेंगे नहीं। गेल इस साल सितंबर में 40 वर्ष के हो जाएंगे। खुद को ‘यूनीवर्स बॉस’ कहने वाले गेल ने इस साल की शुरुआत में विश्व कप के मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों में 424 रन बनाए थे।

पढ़ें:- ‘विराट अकेले विश्व कप नहीं जीता सकते, दूसरों को भी साथ देना होगा’

गेल ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, “युवा अब मेरे सिर पर चढ़े आ रहे हैं। अब यह इतना आसान नहीं रहा जितना पहले हुआ करता था।” उन्होंने कहा, “लेकिन, वे (गेंदबाज) सतर्क रहेंगे। उन्हें पता है कि ‘यूनिवर्स बॉस’ क्या करने में सक्षम है। मुझे विश्वास है कि उनके दिमाग में यह होगा कि यह सबसे खतरनाक बल्लेबाज है जिसे उन्होंने क्रिकेट में अब तक देखा है।”

यह पूछे जाने पर कि क्या विपक्षी टीम अब भी उससे डरती हैं, गेल ने कहा, “क्या आप नहीं बता सकते? जाइये, आप उन्हीं से पूछ लीजिए। जाइये उनसे कैमरे के सामने पूछिए, वें कहेंगे कि नहीं, वे डर नहीं रहे हैं। लेकिन आप उनसे कैमरे से हटकर पूछेंगे तो वे कहेंगे, ‘हां, वह तो है, हां वह तो है।”

पढ़ें:- ICC विश्व कप 2019: इंग्लैंड रवाना हुई भारतीय टीम, देखें तस्वीरें

गेल ने कहा, ” लेकिन, मैं इसका आनंद ले रहा हूं। मैं हमेशा तेज गेंदबाजों के खिलाफ अपनी बल्लेबाजी का आनंद लेता रहा हूं और यह अच्छा है। कभी-कभी वे चीजें वास्तव में आपको बल्लेबाज के रूप में अतिरिक्त ड्राइव देती हैं। जब आपका मुकाबला होता है तो मैं उन चुनौतियों को पसंद करता हूं।”

2015 के विश्व कप के बाद दो साल तक वनडे मैच नहीं खेलने के बावजूद गेल को विश्व कप के लिए वेस्टइंडीज टीम में शामिल किया गया है। गेल ने कहा, “मैं अभी भी अच्छे फॉर्म में हूं। इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद मेरा आईपीएल खराब नहीं था।”

पढ़ें:- मैच पलट सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी: रवि शास्त्री

उन्होंने कहा, “अच्छी बात यह है कि मैं क्रिकेट खेल रहा हूं। मेरे लिए यह जरूरी है कि मैं खेलता रहूं और इंग्लैंड में आकर कुछ अभ्यास मैचों के साथ-साथ यह भी देखूं कि आप कहां है।” विश्व कप में वेस्टइंडीज को 31 मई को ट्रेंटब्रिज में अपना पहला मैच खेलना है।