Boxing Day Test : Marnus Labuschagne credits Indian bowlers’ strategy of stifling the batsmen
Marnus Labuschagne @ca (file image)

गेंदबाजों की शानदार गेंदबाजी के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम ने बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच के पहले दिन ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 195 रन पर समेट दी। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (56/4) और स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (35/3 ) की अगुआई में भारतीय गेंदबाजों ने धारदार गेंदबाजी की।

ऑस्ट्रेलिया के युवा बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन ने दूसरे टेस्ट के पहले दिन ‘नई योजना’ के साथ गेंदबाजी करने पर भारतीय गेंदबाजों की सराहना करते हुए कहा कि उनकी टीम पहली पारी में दबाव में आ गई थी।

दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने एक विकेट पर 36 रन बना लिए थे। इस पारी में ऑस्ट्रेलिया के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले लाबुशेन (132 गेंद में 48 रन) ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘निश्चित रूप से हम बेहतर कर सकते थे। हमारे तीन बल्लेबाज ऐसे आउट हुए जिन्हें शायद आउट नहीं होना चाहिए था।’

उन्होंने कहा, ‘वे सीधी लाईन-लेंथ के साथ गेंदबाजी कर रहे थे। गेंदबाज रन रोकने के लिए नई योजना के साथ आए थे और दबाव बनाने में सफल रहे।’ इस 22 साल के बल्लेबाज ने कहा, ‘मैंने लगभग 130 गेंदों का सामना किया। हमने एक बल्लेबाजी इकाई की तरह इस चुनौती का सामना किया और हमें यह पसंद है।’

NZ vs PAK: केन विलियमसन की कप्तानी पारी ने न्यूजीलैंड को मुश्किल से निकाला

उन्होंने कहा, ‘यह जरूरी नहीं कि सभी छह बल्लेबाज हर बार रन बनाए, कई बार एक या दो बल्लेबाज ही काफी होते है।’ उन्होंने कहा, ‘ मैं हूं या कोई और बल्लेबाजी इकाई की जिम्मेदारी यह सुनिश्चित करना है कि बड़ा स्कोर बने।’

अश्विन के खिलाफ ऑस्ट्रेलियाई टीम के संघर्ष करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘लोग नई योजना के साथ गेंदबाजी कर रहे हैं जैसे की लेग में क्षेत्ररक्षक रखकर सीधी गेंदबाजी करना। हम उन्हें समझने और सीखने की कोशिश कर रहे है। यह इसका समाधान है। बल्लेबाजी समूह के रूप में हम हमेशा सीखने की कोशिश करते हैं।’