अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम ने मेलबर्न में जारी बॉक्सिंग डे टेस्ट (Boxing Day Test) में ऑस्ट्र्रेलिया (India vs Australia) पर शिकंजा कस लिया है.  भारत ने पेसर उमेश यादव (Umesh Yadav) के चोटिल होने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया के दूसरी पारी में 133 रन स्कोर पर 6 विकेट झटक लिए हैं.  ऑस्ट्रेलियाई टीम दूसरी पारी में दो रन की बढ़त बना चुकी है जबकि उसके 4 विकेट बाकी हैं.

डेब्यूटेंट भारतीय पेसर मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने कहा कि एमसीजी (MCG) की पिच धीमी हो गई है और ऑस्ट्रेलियाई टीम के पुछल्ले बल्लेबाजों को आउट करने के लिए गेंद को लगातार एक जगह टप्पा खिलाना होगा.

सिराज ने मैच के बाद ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘पहले दिन पिच से गेंदबाजों को काफी मदद मिली लेकिन आज वह काफी धीमा हो गई है.  अब ज्यादा मदद नहीं मिल रही और स्विंग भी नहीं हो रही है.  सफलता के जरूरी है कि धैर्य बनाये रखें और लगातार एक जगह गेंद फेंके. ’

सिराज के सीनियर तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने उनसे समझाया कि सपाट पिच पर विकेट हासिल करने का एकमात्र तरीका बहुत सारे डॉट गेंदों के साथ दबाव बनाना है.

हैदराबाद के 26 साल के इस गेंदबाज ने कहा, ‘जस्सी भाई (बुमराह) ने मुझसे कहा कि कुछ अलग करने की कोशिश मत करो.  एक दिशा में गेंद फेंकों और डॉट गेंदों के साथ दबाव बनाते रहो, हर गेंद पर ध्यान बनाए रखना चाहिए. ’

सिराज ने घरेलू क्रिकेट और भारतीय ए टीम के लिए शानदार प्रदर्शन कर टेस्ट टीम में जगह बनाई.

उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन के दौरान, मैंने अपनी फिटनेस पर बहुत मेहनत की थी और उसका फल मिल रहा है.  मैंने लाल गेंद के प्रारूप में भारत ए के लिए अच्छा प्रदर्शन किया और इस वर्ष के आईपीएल (IPL) में सफेद गेंद से मेरे अच्छे प्रदर्शन के बाद मुझे विश्वास हो गया कि मैं सीनियर टीम के लिए भी अच्छा प्रदर्शन कर सकता हूं और उम्मीद है कि मैं भविष्य में भी इसे जारी रखूंगा.’