कार्लोस ब्रेथवेट © Getty Images
कार्लोस ब्रेथवेट © Getty Images

आपको साल 2016 में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया टी20 विश्व कप का फाइनल तो याद ही होगा। आपको ये भी याद होगा कि कैसे आखिरी ओवर की पहली चार गेंदों पर चार छक्के लगाकर कार्लोस ब्रेथवेट ने अपनी टीम को रोमांचक जीत दिला दी थी। ब्रेथवेट ने उसी तरह की पारी एक बार फिर से खेली है। जी हां, ब्रेथवेट ने ये पारी बांग्लादेश प्रीमियर लीग में खुलना टाइटंस की तरफ से ढाका डायनामाइट्स के खिलाफ खेली। ब्रेथवेट ने 29 गेंदों में तूफानी 64* रनों की पारी खेली।

ब्रेथवेट ने जड़े 6 छक्के: ब्रेथवेट जब छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए तो खुलना टाइटंस की टीम संघर्ष करती नजर आ रही थी लेकिन ब्रेथवेट ने इसके बाद मोर्चा संभालते हुए ढाका के गेंदबाजों के खिलाफ हल्ला बोल दिया और बेहतरीन बल्लेबाजी की। ब्रेथवेट ने सिर्फ 29 गेंदों में ताबड़तोड़ 64 रनों की पारी खेल डाली। ब्रेथवेट का स्ट्राइकरेट 220.69 का रहा। ब्रेथवेट ने अपनी पारी में 4 चौके और 6 छक्के जड़े। ब्रेथवेट की तूफानी पारी की बदौलत टाइटंस का स्कोर 20 ओवरों में 156 तक पहुंच गया।

मिचेल जॉनसन की तरह इंग्लैंड पर कहर बनकर टूटूंगा: पैट कमिंस
मिचेल जॉनसन की तरह इंग्लैंड पर कहर बनकर टूटूंगा: पैट कमिंस

जवाब में 157 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ढाका की टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने 6 रन पर 2 विकेट खो दिए। इस दौरान टीम ने एविन लुईस (4) और शाहिद अफरीदी (1) के बड़े विकेट खोए। ढाका के विकेट गिरने का सिलसिला जारी रहा और इसके बाद टीम ने कैमरन डेलपोर्ट (2), सुनील नरेन (7), शाकिब अल हसन (20) के विकेट भी खो दिए। टीम के 5 विकेट सिर्फ 41 रनों पर ही गिर चुके थे और टीम पर हार का खतरा मंडराने लगा। हालांकि इसके बाद कायन पोलार्ड और जहुरुल इस्लाम ने मिलकर पारी को संभाला। इस दौरान पोलार्ड बेहद आक्रामक होकर बल्लेबाजी कर रहे थे और उन्होंने सिर्फ 19 गेंदों में 273.68 के स्ट्राइकरेट से अपना अर्धशतक ठोक दिया। पोलार्ड ने खबर लिखे जाने तक 3 चौके और 6 छक्के ठोक चुके थे।