ढाका डाइनामाइट्स बनाम रंगपुर राइडर्स के बीच होगा फाइनल
ढाका डाइनामाइट्स बनाम रंगपुर राइडर्स के बीच होगा फाइनल, साभार- ट्विटर

ढाका में आज शाम 5.30 बजे से बांग्लादेश प्रीमियर लीग 2017 का फाइनल मैच होना है। इस खिताबी मुकाबले में ढाका डाइनामाइट्स और रंगपुर राइडर्स की टक्कर होगी। ये मैच साल 2017 का सबसे आतिशी टी20 फाइनल हो सकता है क्योंकि इस मैच में एक से बढ़कर एक बड़े हिटर्स उतरने वाले हैं। ढाका डाइनामाइट्स की टीम में एविन लुइस, जो डेनली, कायरन पोलार्ड, शाहिद अफरीदी जैसे बड़े हिटर्स हैं तो वहीं रंगपुर राइडर्स की टीम भी क्रिस गेल, जॉनसन चार्ल्स, ब्रैंडन मैक्कलम जैसे तूफानी बल्लेबाज हैं। ये बल्लेबाज आज फाइनल मैच में उतरेंगे और गेंदबाजों की खबर लेंगे।

ढाका की तूफानी बल्लेबाजी
ढाका डाइनामाइट्स की बल्लेबाजी उसकी बड़ी ताकत है। उसके 4 बल्लेबाज एविन लुइस, जो डेनली, शाहिद अफरीदी और सुनील नरेन ने मिलकर 56 छक्के लगाए हैं। जब भी इन बल्लेबाजों का बल्ला चला है टीम को हमेशा जीत मिली है। इसके अलावा ढाका के कप्तान शाकिब अल हसन गेंद और बल्ले से मैच जिताने में माहिर हैं। वहीं अफरीदी और नरेन की फिरकी किसी भी बल्लेबाज को फंसा सकती है।

रंगपुर राइडर्स के बल्लेबाज भी रंग में
ढाका डाइनामाइट्स की तरह ही रंगपुर के बल्लेबाज भी रंग में हैं। क्रिस गेल ने एलिमिनेटर में शतक ठोका है, तो वहीं दूसरे क्वालिफायर में जॉनसन चार्ल्स ने शतक जमाया है। खराब फॉर्म में चल रहे ब्रैंडन मैक्क्लम भी रंग में आ चुके हैं। कॉमिला विक्टोरियंस के खिलाफ 9 छक्कों से सजी अर्धशतकीय पारी इसका सबसे बड़ा सुबूत है। क्रिस गेल का फॉर्म में होना रंगपुर राइडर्स की बड़ी ताकत है। बांग्लादेश प्रीमियर लीग के एलिमिनेटर मुकाबले में क्रिस गेल ने रंगपुर राइडर्स के लिए खेलते हुए सिर्फ 51 गेंद में नाबाद 126 रन बनाए। गेल की इस पारी के दम पर रंगपुर को 8 विकेट से जीत तो मिली ही, साथ में उन्होंने कई रिकॉर्ड भी तोड़ डाले थे।

संभावित प्लेइंग इलेवन
ढाका डाइनामाइट्स- मेहदी महरूफ, एविन लुइस, जो डेनली, कायरन पोलार्ड, शाकिब अल हसन, शाहिद अफरीदी, मोसद्देक हुसैन, सुनील नरेन, जहुरुल इस्लाम, अबु हैदर, मोहम्मद सद्दाम।

बिग बैश लीग का आगाज मंगलवार से, ये  5 खिलाड़ी मचा सकते हैं 'गदर'
बिग बैश लीग का आगाज मंगलवार से, ये 5 खिलाड़ी मचा सकते हैं 'गदर'

रंगपुर राइडर्स- क्रिस गेल, जॉनसन चार्ल्स, ब्रैंडन मैक्कलम, मोहम्मद मिथुन, रवि बोपारा, नाहिद्दुल इस्लाम, मशरफे मुर्तजा, सोहाग गाजी, इसुरु उदाना, नजमुल इस्लाम और रुबेल हुसैन।