भारतीय क्रिकेट फैंस स्टेडियम में टीम इंडिया का हौसला बढ़ाते हुए © Getty Images
भारतीय क्रिकेट फैंस स्टेडियम में टीम इंडिया का हौसला बढ़ाते हुए © Getty Images

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानि बीसीसीआई की एक बार फिर जमकर किरकिरी हो कही है। खबरों की मानें तो बीसीसीआई की वजह से मुंबई में हजारों फैंस अपने पसंदीदा क्रिकेटर्स को खेलते नहीं देख पाए। दरअसल बोर्ड प्रेसिडेंट इलेवन और न्यूजीलैंड के बीच हो रहे पहले प्रैक्टिस मैच में बीसीसीआई ने मुंबई पुलिस को सुरक्षा मशीनें नहीं दी जिसके चलते स्टेडियम में फैंस की एंट्री नहीं हुई। हजारों लोग स्टेडियम के बाहर से ही अपने घर चले गए।

किसी भी मुकाबले में जिसमें अंतर्राष्ट्रीय टीम खेल रही होती है उसमें पुलिस के साथ क्रिकेट बोर्ड का एक अधिकारी भी होता है। उस अधिकारी का काम मैच में खिलाड़ियों और प्रशंसकों से जुड़े प्लान बनाना होता है, लेकिन इस बार बीसीसीआई इन सब मुद्दों पर नाकाम रहा। बीसीसीआई सुरक्षा इंतजाम से जुड़ी मशीनें मुंबई पुलिस को मुहैया नहीं करा सकी। मुंबई पुलिस के डीसीपी(जोन 1) मनोज शर्मा ने साफ तौर पर कहा कि हमने बीसीसीआई से जो उपकरण मांगे थे वो हमें मुहैया नहीं कराए गए। इसीलिए सुरक्षा के लिहाज से हमने किसी भी दर्शक को स्टेडियम के अंदर नहीं जाने दिया।

के एल राहुल और करुण नायर खेलेंगे रणजी ट्रॉफी, 24 अक्टूबर को हैदराबाद से मुकाबला
के एल राहुल और करुण नायर खेलेंगे रणजी ट्रॉफी, 24 अक्टूबर को हैदराबाद से मुकाबला

खबरों की मानें तो क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया ने बीसीसीआई और प्रशासकों की समिति को सुरक्षा संबंधी इंतजाम करने के लिए तीन बार खत लिखा, लेकिन बीसीसीआई और प्रशासकों की समिति की ओर से कोई जवाब नहीं मिला। खबरों की मानें तो ये भी पता चला है कि चूंकि इस मैच से कोई कमाई नहीं होने वाली थी इसीलिए बीसीसीआई चाहती थी कि मुंबई पुलिस इस मुकाबले के लिए मुफ्त में सुरक्षा मुहैया कराए।