ICC World Test Championship 2021, India vs New Zealand: ऑस्‍ट्रेलिया के बाएं हाथ के पूर्व स्पिनर ब्रैड हॉग (Brad Hogg) का मानना है कि इंग्‍लैंड में चेतेश्‍वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की तकनीक नॉन स्‍ट्राइकर एंड पर खड़े बल्‍लेबाज पर दबाव डाल सकती है. पुजारा ने दूसरे दिन के खेले के दौरान शनिवार को 54 गेंदों का सामना कर 14 की स्‍ट्राइकरेट से महज आठ रन बनाए.

अपने यू-ट्यूब चैनल पर ब्रैड हॉग (Brad Hogg) ने कहा, “ऑस्‍ट्रेलिया में गेंद ज्‍यादा देर तक स्विंग नहीं करती है. इंग्‍लैंड में गेंद पुरानी होने के बावजूद स्विंग होती रहती है. यही वजह है कि पुजारा की तकनीक वहां के मुकाबले टीम के लिए इंग्‍लैंड में ज्‍यादा परेशानी पैदा कर सकती है. कल खेल के दौरान कुछ ऐसा ही देखने को मिला.”

“अगर नॉन स्‍ट्राइकर एंड का बल्‍लेबाज अपने पूरे रंग में है. तो पुजारा की बल्‍लेबाजी उनपर दबाव डाल सकती है. दूसरा बल्‍लेबाज उनकी धीमी बल्‍लेबाजी से से थोड़ा बेसब्र हो सकता है और विकेट खोने का यह कारण बन सकता है.“

ब्रैड हॉग (Brad Hogg) की माने तो इंग्‍लैंड के खिलाफ पुजारा बेहद असरदार साबित हो सकते हैं. “मुझे उनका ये पहलू अच्‍छा लगता है कि चेतेश्‍वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) बल्‍लेबाजी करना चाहते हैं. अगर पहली पारी के दौरान वो लंबी बल्‍लेबाजी करेंगे तो विरोधी टीम पर काफी दबाव डाल देंगे. अगर पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज के दौरान आपको इंग्‍लैंड को डाउन करना है तो इसके लिए आपको स्‍टुअर्ट ब्रॉड और जेम्‍स एंडरसन जैसे बड़े गेंदबाजों को काबू करना होगा.”