Brad Hogg suggests bring teams in chartered flights and organise T20 World Cup
Shikhar Dhawan with KL Rahul @ Twitter/ BCCI

कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते इन दिनों क्रिकेट संबंधित सभी गतिविधियों पर ब्रेक लगा हुआ है। आईपीएल 2020 (IPL 2020) को भी अनिश्चितकाल के लिए स्‍थगित कर दिया गया है। अब एशिया कप और टी20 विश्‍व कप (ICC T20 World Cup 2020) पर संकट के बादल छाए हुए हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रैड हॉग (Brad Hogg) का मानना है कि टी20 विश्व कप आयोजन करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए, भले ही इसके लिए टीमों को एक महीने पहले चार्टर्ड फ्लाइट में लाना पड़े और सभी प्रतिभागी खिलाड़ियों का कोविड-19 परीक्षण कराना पड़े।

कोविड-19 (COVID-19) महामारी के कारण दुनिया भर में एक लाख 20 हजार से अधिक लोगों की जान गई है और कई देशों में लाकडाउन घोषित किया गया है। इस घातक बीमारी के कारण टी20 विश्व कप पर भी संशय के बादल छा गए हैं जिसका आयोजन आस्ट्रेलिया में 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच होना है।

पढ़ें:- On This Day: सचिन तेंदुलकर ने जड़ा था पहला IPL शतक, ऐसा करने वाले पहले कप्‍तान

हॉग (Brad Hogg) ने कहा कि वह टूर्नामेंट को स्थगित या रद्द करने के विचार के खिलाफ हैं और टूर्नामेंट के सुचारू आयोजन के लिए आयोजकों को समय रहते कुछ जरूरी कदम उठाने होंगे।

हॉग ने अपने ट्विटर हैंडल पर डाले वीडियो में कहा, ‘‘इस तरह की बातें हो रही हैं कि आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप को रद्द किया जा सकता है या इसका समय बदला जा सकता है। मुझे यह पसंद नहीं है… लेकिन कुछ समस्याएं हैं जिनका हल निकालने की जरूरत है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘काफी खिलाड़ी लाकडाउन से गुजर रहे हैं। वह बाहर नहीं निकल पा रहे हैं और टी20 विश्व कप जैसे टूर्नामेंट के लिए ट्रेनिंग और तैयारी नहीं कर पा रहे। इसलिए हमें उन्हें यहां एक या डेढ़ महीना पहले लाना होगा।’’

हॉग (Brad Hogg) ने सुझाव दिया कि आस्ट्रेलिया में प्रवेश के लिए चार्टर्ड फ्लाइट लेने से पहले प्रत्येक खिलाड़ी का परीक्षण किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘व्यावसायिक उड़ाने उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए हमें चार्टर्ड उड़ानों का सहारा लेना होगा… चार्टर्ड फ्लाइट में बैठने से पहले सभी खिलाड़ियों का परीक्षण होना चाहिए।’’

पढ़ें – पाकिस्‍तान ने लगाया अड़ंगा, एशिया कप के दौरान IPL आयोजन की संभावना से किया इनकार

हॉग ने कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया में आने के बाद उन्हें दो हफ्तों के लाकडाउन से गुजरना होगा। दो हफ्ते का पृथक रहने का समय पूरा होने के बाद उनका दोबारा परीक्षण होगा और अगर वे परीक्षण में सफल रहते हैं तो बाहर जाने, तैयारी और ट्रेनिंग करने के लिए स्वतंत्र होंगे।’’

हॉग (Brad Hogg) ने कहा कि क्रिकेट में सामाजिक दूरी बनाना समस्या नहीं होगी। ‘‘सामाजिक दूरी बनाना क्रिकेट में समस्या नहीं होगी क्योंकि अधिकांश समय खिलाड़ी एक दूसरे से एक-डेढ़ मीटर से अधिक की दूरी पर ही रहते हैं। एकमात्र समस्या स्लिप में हो सकती है लेकिन इसके लिए नियम बनाया जा सकता है कि स्लिप में दो खिलाड़ियों के बीच कम से कम दो मीटर की दूरी होगी।’’