Brendon McCullum: New Zealand handled themselves magnificently in the aftermath of World Cup final
केन विलियमसन, ब्रेंडन मैक्कुलम (Getty images)

न्यूजीलैंड को आईसीसी विश्व कप 2015 के फाइनल में पहुंचाने वाले कप्तान ब्रेंडन मैक्कुलम का मानना है कि 2019 विश्व कप फाइनल में हार के बाद कीवी टीम में खुद को अच्छे तरीके से संभाला है।

लॉर्ड्स के मैदान में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए फाइनल मैच में बाउंड्री के आधार पर न्यूजीलैंड टीम पहला खिताब जीतने से चूक गई। मैक्कुलम ने माना कि ये बात टीम को ज्यादा खलेगी।

न्यूजीलैंड की वेबसाइट स्टफ को दिए बयान में मैक्कुलम ने कहा, “ये वो चीज है जो उनके लिए मुश्किल होगी। मैं खुशकिस्मत था जो ड्रेसिंग रूम में उनके साथ बियर पी सका। उस समय वो काफी दुखी लग रहे थे, ये निश्चित था।”

प्री-एशेज ट्रायल में स्टार्क, कमिंस का सामना करेंगे स्मिथ, वेड

पूर्व कीवी कप्तान ने आगे कहा, “साथ ही वो टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन पर काफी गर्व महसूस कर रहे थे। आने वाले महीनों और सालों में, जब तक कि ये याद ताजा है, वो ये समझेंगे कि ये कितना बेहतरीन दृश्य था। और एक बड़े स्टेज पर ऐसा होना, और उस तरह से खेलना जैसा उन्होंने उस मैच में खेला, कमाल था।”

लगातार दो बार विश्व कप फाइनल में पहुंचने के बावजूद न्यूजीलैंड के पहला खिताब ना जीत पाने से मैक्कुलम निराश जरूर हैं लेकिन टीम के लगातार अच्छे प्रदर्शन से खुश हैं। मैक्कुलम से जब फाइनल मैच के आखिरी ओवर में ओवरथ्रो की वजह से इंग्लैंड को मिले अतिरिक्त रनों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “अगर आप नियमों की तरफ देखें तो शायद फैसला सही नहीं था लेकिन बात खराब किस्मत की थी और ऐसा होता है।”

तमीम बोले- श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज होगी चुनौतीपूर्ण

उन्होंने आगे कहा, “ऐसा नहीं कहा जा सकता कि अगर आखिरी गेंद पर बेन स्टोक्स को दो की बजाय चार रनों की जरूरत होती, तो वो लो फुलटॉस को मैदान के बाहर नहीं मारता। मुझे नहीं लगता कि उन चीजों पर ध्यान दिया जा सकता है। ये निराशाजनक है कि चीजें हमारे पक्ष में नहीं गई लेकिन पूरे विश्व कप टूर्नामेंट के दौरान किस्मत ने कई बार हमारा साथ भी दिया है, जिससे हमें मौका मिला। दुर्भाग्य से उस दिन किस्मत हमारे साथ नहीं थी। मैं किसी को भी दोष नहीं दे रहा।”