रविवार को होने वाले बुशफायर चैरिटी मैच के लिए पूर्व दिग्गज रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) की टीम से बतौर कोच जुड़े महान भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने खुलासा किया कि इस कार्यक्रम से उनके जुड़ने के पीछे पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली (Brett Lee) का हाथ हैं। बता दें कि ब्रेट ली भी इस चैरिटी मैच में पॉन्टिंग की टीम में खेलेंगे।

शतकों का शतक लगा चुके इस दिग्गज बल्लेबाज ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को दिए बयान में कहा, “मुझे ब्रेट ली का मैसेज मिला। ब्रेट ने कहा कि केविन (क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख अधिकारी केविन रॉबर्ट्स) मुझसे बात करना चाहते हैं। इसमें सोचने वाली कोई बात नहीं थी। जिस पल उन्होंने मुझसे पूछा, मैने कहा ‘हां मैं यहां आना पसंद करूंगा’।”

रिकी पॉन्टिंग इलेवन के कोच की भूमिका निभा रहे तेंदुलकर विश्व कप विजेता कप्तान और ब्रेट ली के अलावा मैथ्यू हेडन, जस्टिन लैंगर, ब्रायन लारा, वसीम अकरम जैसे कई और पूर्व दिग्गजों के साथ काम करेंगे।

न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे वनडे में कुलदीप-चहल, दोनों को मिले मौका : हरभजन सिंह

तेंदुलकर ने ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग को भयावह बताया। उन्होंने कहा, “ये भयावह स्थिति है, इसे भयावह कहना भी कम होगा। इससे कितने सारे लोगों के जीवन प्रभावित हुए हैं, ना केवल इंसान बल्कि पशु-पक्षी भी, जिनके बारे में हम बात नहीं करते। वो भी उतने ही अहम हैं। मैं खुश हूं कि मैं यहां पर इसके लिए पैसे जुटाने में मदद करने के मौजूद हूं।”

पूर्व दिग्गज ने आगे कहा, “ऑस्ट्रेलिया हमेशा से ही मेरे दिल के करीब रहा है। 1991 में, जब मैं 18 साल का था मैं तब से यहां आ रहा हूं। मैंने यहां लगभग चार महीने बिताए हैं। जब मैं भारत गया तो मैं ऑस्ट्रेलियाई लहजे में बात करने लगा था।18 साल की उम्र से मैंने यहां पर प्रतिद्वंदी क्रिकेट खेली है, इसलिए मेरे दिल में ऑस्ट्रेलिया और ऑस्ट्रेलियाई लोगों के लिए खास जगह है।”

ब्रेट ली के खिलाफ 6 छक्के लगाएं युवराज?

सचिन की टीम रिकी पॉन्टिंग इलेवन के खिलाफ एडम गिलक्रिस्ट इलेवन टीम खेलेगी, जिसमें भारत के स्टार क्रिकेटर युवराज सिंह शामिल हैं। अंतरराष्ट्रीट क्रिकेट से संन्यास ले चुके युवराज भी इस चैरिटी मैच को लेकर उत्साहित हैं।

युवराज से जब पूछा गया कि क्या वो रविवार को होने वाले इस मैच में छह छक्के लगा सकते हैं तो उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा, “फिलहाल मुझे नहीं पता। मुझे नहीं पता कि मैं तेज गेंदबाजों को कैसे खेलूंगा। मैं उम्मीद करता हूं कि ली 150 की गति से गेंदबाजी ना करा रहा हो, अगर वो 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करेगा तो मैं नॉन स्ट्राइकर एंड पर ही रहूंगा।”