Brett Lee: Our bowlers have really struggled in patches against India
Mayank Agarwa, Hanuma Vihari at MCG © AFP

पूर्व ऑस्ट्रेलिया तेज गेंदबाज ब्रेट ली का मानना है कि भारत के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज में मेजबान टीम के पिछड़ने का कारण उनके गेंदबाज हैं। ब्रेट ली ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में संघर्ष करते नजर आए। जिसका असर मैच के नतीजों में भी दिखा।

द टेलीग्राफ को दिए इंटरव्यू में पूर्व दिग्गज ने कहा, “साफ तौर पर ऑस्ट्रेलिया ने अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेला है। भारत शानदार रहा है। सच ये है कि हमारे गेंदबाजों ने टुकड़ों में संघर्ष किया है। सिडनी में भारत की पहली पारी में 30 से ज्यादा ऐसी गेंदे नहीं डाली गई थी जो स्टंप पर लगती। इस बात में कोई शक नहीं है को उन्होंने 600 से ज्यादा रन बना दिए। मेरा सवाल सीधा है, आप किसी टीम को आउट कैसे करेंगे अगर आप 167.2 ओवर में से केवल 30 गेंदे ऐसी करेंगे जो स्टंप पर जाकर लग सकती हैं।”

ये भी पढ़ें: स्टार्क, कमिंस, हेज़लवुड के प्रदर्शन से निराश मिशेल जॉनसन ने कहा, नए गेंदबाजों को मौका दें

गेंदबाजी के अलावा इस टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी भी बेहद खराब रही है। इस बारे में ब्रेट ली ने कहा, “हमारे बल्लेबाजों ने उतने रन नहीं बनाए, जितने वो बना सकते थे, वहीं भारत ने दो 300 के स्कोर, एक 443/7 की पारी और फिर सिडनी में एक 622/7 की पारी खेली। एक पूरी पारी में भारत कभी भी 250 से नीचे नहीं गया, ये आंकड़े बहुत कुछ कहते हैं।”

भारतीय टीम की तारीफ करते हुए पूर्व क्रिकेटर ने कहा, “अगर मुझे पुजारा को गेंदबाजी करना होती तो मैं प्रार्थना करता। वास्तव में वो सनकी है, उसके आंकड़ों को देखें, तीन शतक। हमारा सर्वश्रेष्ठ, सिडनी की पहली पारी में हैरिस के बनाए 79 रन।”

ये भी पढ़ें: कप्‍तान कोहली के ‘साम्राज्य’ के ‘अनमोल रत्न’ हैं चेतेश्‍वर पुजारा: चैपल

ली ने कहा, “जसप्रीत बुमराह, चेतेश्वर पुजारा, मोहम्मद शमी का प्रदर्शन और विराट कोहली की कप्तानी। विराट ने सही आक्रामकता, सही मौके पर दिखाई है। फिर उसकी फील्ड प्लेसमेंट भी शानदार रहा है। अब विराट हमारी जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने वाला पहला कप्तान बनकर, इतिहास रचने के करीब है। उसे और टीम इंडिया को बधाई।”

हालांकि पूर्व क्रिकेटर को भरोसा है कि ऑस्ट्रेलिया टीम जल्द वापसी करेगी। उन्होंने कहा, “ये दुखद है। ऑस्ट्रेलिया फैंस को बहुत तकलीफ देने वाली बात है लेकिन विश्वास करिए, एक बार टीम सबक सीख जाएगी तो हम मजबूती के साथ वापसी करेंगे।”