CA cancels final round of Sheffield Shield, postpones decision on Finals
पीटर नेविल (Twitter)

ऑस्ट्रेलिया की शीर्ष प्रथम श्रेणी लीग शेफील्ड शील्ड के मुकाबले दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार नहीं हो पाएंगे क्योंकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने कोविड-19 महामारी के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रतियोगिता का आखिरी दौर रद्द कर दिया है।

क्रिकेट.काम.एयू के अनुसार हालांकि सीए ने 27 मार्च को होने वाले फाइनल पर फैसला टाल दिया है। कोरोना वायरस को लेकर स्थिति की भविष्य में समीक्षा के बाद फाइनल के आयोजन पर फैसला किया जाएगा।

सीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी केविन रॉबर्ट्स ने कहा है कि यात्रा की संभावना को कम करने के लिए शील्ड प्रतियोगिता का आखिरी दौर रद्द कर दिया गया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने और अंतत: खत्म करने में मदद मिलेगी। इस तरह के समय में सभी की भलाई के लिए क्रिकेट सबसे अहम नहीं रह जाता।’’

IPL 2020 स्थगित होने के साथ ही चेन्नई से लौटे महेंद्र सिंह धोनी

उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछले कुछ समय से संबंधित सरकारी एजेंसियों, हमारी मेडिकल टीम और संक्रमण रोग विशेषज्ञ के संपर्क में हैं और ये फैसले करने से पहले हमने उनकी सलाह पर ध्यान दिया है। ये ऐसे फैसले नहीं हैं जिनके हम, क्रिकेट से जुड़े लोग आदी हैं… ये स्पष्ट है कि जहां भी संभव हो वहां लोगों के संपर्क की संभावना कम करके हमें विषाणु के फैलने की संभावना को सीमित करने में मदद करके अपनी भूमिका निभानी है।’’

इस हफ्ते पर्थ के वाका, एडीलेड के केरेन रोल्टन ओवल और मेलबर्न के जंक्शन ओवल में होने वाले तीन मैचों में पहले ही दर्शकों के प्रवेश को प्रतिबंधित किया गया है। सीए इस विकल्प पर भी विचार कर रहा है कि अगर फाइनल नहीं खेला जा सका तो न्यू साउथ वेल्स ब्ल्यूज को खिताब दिया जाए तो अभी लीग तालिका में शीर्ष पर है।

BCCI कमेंट्री पैनल से हटाए जाने के बाद CSK ने उड़ाया संजय मांजरेकर का मजाक

अगर ऐसा होता है तो ये राज्य का 47वां शील्ड खिताब और 2013-14 के बाद पहला खिताब होगा। अगले हफ्ते हालांकि अगर जन स्वास्थ्य स्थिति में सुधार होता है तो पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुसार फाइनल में एनएसडब्ल्यू की प्रतिद्वंद्वी टीम विक्टोरिया की हो सकती है।

गत चैंपियन विक्टोरिया ने पिछले पांच में से चार शील्ड खिताब जीते हैं। टीम ने पिछले साल मेलबर्न में फाइनल में एनएसडब्ल्यू को ही हराया था।