CAB advises no use of saliva and sweat during small group training
bat ball © Twitter

बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) ने शुक्रवार को कोविड-19 के बीच स्थानीय क्रिकेटरों के लिए ट्रेनिंग शुरू करने को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं। सीएबी की मेडिकल समिति ने शुक्रवार को गाइंडलाइंस में खिलाड़ियों को गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा और पसीने का इस्तेमाल न करने की सलाह दी है। गाइडलाइंस में छोटे-छोटे समूह में ट्रेनिंग करने की बात कही गई है।

आईसीसी की क्रिकेट समिति ने भी स्वास्थ्य हितों को ध्यान में रखकर कोविड-19 के बाद खेल के दोबारा शुरू होने पर सलाइवा का उपयोग न करने की सिफारिश की है।

बंगाल क्रिकेट में भी दी कोरोनावायरस ने दस्‍तक, मुख्‍य चयनकर्ता पाए गए पॉजिटीव

सीएबी ने एक बयान में कहा, “ट्रेनिंग के दौरान क्या सावधानियां बरतनी हैं और किन प्रोटोकॉल्स का पालन करना इस पर विस्तार से चर्चा हुई।आईसीसी की गाइडलाइंस को देखा गया। यह फैसला लिया कि क्या करना है या नहीं इसकी सूची तैयार की जाए ताकि चीजों को जल्दी से जल्दी समझा जा सके।”

बयान के मुताबिक, “कुछ समय के लिए सलाइवा और पसीने का इस्तेमाल पर रोक लगाई है। सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करते हुए ट्रेनिंग छोटे-छोटे समूहों में शुरू की जा सकती है।” मेडिकल समिति ने 10 सूत्रिय ड्राफ्ट बनाया है जिस पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुई इस बैठक में चर्चा की गई।

इंग्‍लैंड के 55 खिलाड़ियों ने शुरू की ट्रेनिंग, कैंप में एलेक्‍स हेल्‍स की एंट्री रही बैन, ये है वजह

सीएबी के अध्यक्ष अभिषेक डालमिया ने कहा, “हमारी बैठक काफी अच्छी रही और जल्द ही जो फैसले लिए गए हैं हम उनका फॉलोअप करेंगे । इस बीच इस बात पर चर्चा हुई की ऑफिस या किसी भी तरह की गतिविधि शुरू करने के दौरान स्वास्थ, सोशल डिस्टेंसिंग और हाइजीन जैसी चीजों का ख्याल रखा जाएगा। पूरी कोशिश की जाएगी की गतिविधियां सुरक्षित तरीके से की जा सकें ताकि वायरस फैलने का जोखिम नहीं हो।”

सीएबी ने आपातकालीन स्थिति के लिए आइसोलेशन रूम बना दिया है ताकि अगर किसी के अंदर वायरस के लक्षण पाए जाते हैं तो उसे इस कमरे में रखा जाए। बयान में कहा गया है, “संघ की कोशिश जल्द ही ऑफिस खोलने की है लेकिन ट्रेनिंग शुरू करने पर फैसला आने वाले समय में लिया जाएगा।”