Cameron Bancroft: I am sorry I lied, please forgive me
कैमरून बैनक्रॉफ्ट © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी कैमरून बैनक्रॉफ्ट ने गेंद से छेड़छाड़ मामले में अपनी भूमिका के लिए माफी मांगते हुए कहा, ‘‘मैंने झूठ बोला… मुझे माफ कर दीजिए।’’ केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान कैमरे में सैंडपेपर से गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पकड़े गए बैनक्रॉफ्ट ने कहा कि वो खुद से काफी निराश हैं। इस सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘‘मैं कहना चाहूंगा कि मुझे माफ कर दीजिए। मैं बहुत निराश हूं और मुझे अपनी गलती पर पछतावा है। ये ऐसी चीज है जिसका मुझे अपनी पूरी जिंदगी पछतावा रहेगा।’’

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बैनक्रॉफ्ट पर 9 महीने और स्टीवन स्मिथ और डेविड र्वानर पर एक-एक साल का बैन लगाया है। साथ ही पूरी योजना बनाने के लिए वॉर्नर से भविष्य में कभी भी ऑस्ट्रेलिया टीम की कप्तानी का अधिकार भी छीन लिया है।

25 साल के इस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने मामले की शुरुआत में सैंडपेपर के इस्तेमाल की बात से इनकार किया था। हालांकि उन्होंने अब झूठ बोलने के लिए माफी मांगी है। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने झूठ बोला। मैंने सैंडपेपर के बारे में झूठ बोला। मैं उस समय घबरा गया था और मैं इसके लिए माफी मांगता हूं। मुझे ऐसा लग रहा है कि जैसे मैंने ऑस्ट्रेलिया में हर किसी को शर्मसार किया।’’ इन तीनों खिलाड़ियों को जोहान्सबर्ग में चौथा टेस्ट शुरू होने से पहले स्वदेश भेज दिया गया है और इस समय उन पर घरेलू क्रिकेट खेलने पर भी रोक लगी हुई है। हालांकि उन्हें कम्यूनिटी क्रिकेट में 100 घंटे काम करने को कहा गया है।

बैनक्रॉफ्ट ने कहा, ‘‘मुझे सबसे ज्यादा दुख इस बात का हो रहा है कि मैंने टीम में अपनी जगह मुफ्त में गंवा दी। लोग जानते हैं कि मैंने अपने करियर में इस मुकाम तक पहुंचने के लिए काफी कड़ी मेहनत की है और मुफ्त में ये मौका गंवा दिया जो निराशजनक है।’’ उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि उन्होंने इससे पहले कभी गेंद से छेड़छाड़ नहीं की थी। उन्‍होंने आगे कहा, “जब से ये मामला सामने आया है एक पल भी ऐसा नहीं बीता जब मैंने  ये न सोचा हो कि किसी तरह बीता समय वापस आ जाए और मैं इसे बदल दूं। केवल शब्‍दों से में इन परिस्थितियों को पूरी तरह से नहीं बता सकता हूं।”

मैं जानता हूं कि मैं रोल मॉडल हूं और मैने काफी लोगों को अपनी इस हरकत से निराश किया है। इस घटना को में कभी नहीं भूल पाउंगा। इसका मलाल मुझे जीवन भर रहेगा। मैं अपना खोया सम्‍मान वापस पाने का प्रयास करुंगा। फिलहाल मैं ये ही कह सकता हूं कि इस गलती के लिए मुझे माफ कर दें।